बिहार खबरें

Kidney fail hone ke lakshan

Kidney fail hone ke lakshan : दुनियाभर में लाखों की तादाद में ऐसे लोग हैं जो किडनी से संबधित समस्‍याओं (Side effects of kidney failure) से जूझ रहे हैं और उन्‍हें इसकी जानकारी तक नही है। दरअसल, कई बार हमें किडनी की समस्‍याओं (Kidney Problem) के लक्षण (Kidney failure symptoms in hindi) तो दिखते हैं लेकिन जानकारी के अभाव में हम इसे पहचान नहीं पाते। कई लोग तो इन लक्षणों (kidney kharab honey ke lakshan) को किसी अन्‍य समस्‍या की वजह समझकर गलत इलाज भी करने लगते हैं। लेकिन सही समय पर इलाज ना होने की वजह से आगे चलकर किडनी फेल होने की होने की भी आशंका बन जाती है।

Kidney fail hone ke lakshan

किडनी फेल होने का मतलब है कि आपकी किडनी की 85-90% फीसदी काम करने की क्षमता खतम हो गई है। जिंदा रहने के लिए किडनी का जितना काम करना जरूरी है किडनी उस स्थिति में उतना काम नहीं कर पा रही है। किडनी खराब होने (Kidney kharab hone ke lakshan kya hai) पर इसका कोई इलाज संभव नहीं है, लेकिन इलाज करके लंबी उम्र तक जिंदा रहा जा सकता है। जरूरी नहीं है कि जिन लोगों की किडनी खराब हो जाएं उनकी मौत तय है। किडनी खराब होने पर भी लोग उसका इलाज करके लम्बे समय तक जिंदा रहते हैं।

किडनी खराब होने के लक्षण |Kidney fail hone ke lakshan

आइए हम बताते हैं कि वो कौन से लक्षण है जो बताते हैं कि हमारी किडनी पर गलत असर (kidney fail hone ke lakshan) पड़ रहा है और उसके इलाज की जरूरत है।

पेशाब ज्यादा आना

अगर किडनी में परेशानी शुरू होती है तो सबसे पहले उसका असर पेशाब पर पड़ता है। आमतौर पर दिन में 8-10 बार पेशाब (High urine output kidney failure)  आना स्‍वाभाविक है लेकिन इससे ज्यादा पेशाब का आना किडनी खराब (Kidney damages symptoms in hindi) होने का संकेत हो सकता है। कई बार पेशाब में जलन और खून आने की भी परेशानी का सामना करना पड़ता है।कई बार ये लक्षण यूरिन इंफेक्‍शन की वजह से भी होते हैं|

भूख में कमी आना

शरीर में विषाक्त पदार्थों और वेस्ट का संचय भी आपकी भूख को कम कर सकता है, जिससे वजन घटने लगता है। कम भूख का एक अन्य कारण सुबह जल्दी मतली और उल्टी भी हो सकती है। इस कारण व्यक्ति को हर समय पेट भरा हुआ महसूस होता है और कुछ खाने का मन नहीं करता। यह किडनी खराब (Kidney failure ka ilaj in hindi) होने का खतरनाक संकेत है, जिस पर किसी का ध्यान नहीं जाता है|

आगे पढ़ें: Reason for pigmentation on face | 1 ही हफ्ते में चेहरे की झाइयां हो जाएगी छूमंतर, आजमाएं ये रामबाण इलाज

जल्दी थकावट महसूस करना

यदि आप अचानक से चलते-चलते या सीढ़ियां चढ़ने के दौरान थकने लगे तो समझ जाइए कि आपकी किडनी ठीक (Kidney fail hone ke lakshan) तरह से काम नहीं कर रही है। जो हमारी किडनी में विषाक्त प्रद्वार्थों के जमावट का कारण हो सकता है। किडनी की बीमारी में एनीमिया की कमी के कारण भी हमारे शरीर में थकान और कमजोरी का कारण बनता है।

सोने में परेशानी

किडनी हमारे शरीर में फिल्टर का काम करती है। जो हमारे शरीर के विषाक्त प्रद्वार्थों को बाहर निकालती है। यदि रात में सोने के परेशानी होती है तो यह मोटापे और क्रोनिक किडनी रोग के बीच एक कनेक्शन हो सकता है। सामान्य लोगों की तुलना में क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों में स्लीप एनीमिया की समस्या आम है|

आगे पढ़ें: रातों-रात दूर हो जाएगी डार्क अंडर आर्म्स की समस्या, इन घरेलू उपाय से चुटकियों में दूर हो जायेगी आपकी परेशानी

टखने और पैरों में सूजन

किडनी शरीर से अपशिष्ट और अतिरिक्त सोडियम को फिल्टर करने में मदद करती है। जब किडनी ठीक से काम करना बंद(Kidney failure symptoms in hindi)  कर देती है, तो शरीर में सोडियम जमा होने लगता है, जिससे पिंडलियों और टखनों में सूजन बढ़ जाती है। इस स्थिति को एडिमा कहते हैं। वैसे तो टॉक्सिक किडनी में आंखों और चेहरे में सूजन देखी जाती है, लेकिन इसके लक्षण (Kidney fail hone ke lakshan) सबसे ज्यादा हाथ, पैर और टखनों को प्रभावित करते हैं।

स्किन का ड्राई होना और खुजली होना

किडनी में खराबी होने पर उसका असर स्किन (Kidney failure skin color) पर भी दिखने लगता है। स्किन ड्राई होने लगती है और स्किन में खुजली की परेशानी (Kidney failure skin rash) भी होती है।

आगे पढ़े: दूध में डालकर पीएं शहद और ये खास चीज, कई बीमारियां भाग जाएंगी दूर, मिलते है ये जबरदस्त फायदे

पेशाब झागदार होना

यदि आपका पेशाब ज्यादा झागदार है तो इसका मतलब है कि आपके पेशाब के माध्यम से शरीर का प्रोटीन ज्यादा बाहर आ रहा है। पेशाब में पाया जाने वाला प्रोटिन एल्ब्यूमिन प्रोटीन होता है जो अंड़ों में पाया जाता है।

आंखों के नीचे सूजन

पेशाब में प्रोटीन का आना एक प्रारंभिक संकेत है जो बताता है कि हमारे किडनी का फिल्टर क्षतिग्रस्त हो गया है। जिससे प्रोटीन पेशाब में लीक होकर आ जाता है। इससे आंखों के आसपास हल्के सूजन दिखाई देने लगते हैं। जो यह दर्शातें है कि आपके पेशाब में प्रोटीन की मात्रा का ज्यादा रिसाव हो रहा है। इसलिए डाक्टर किसी भी मरीज की जांच से पहले उन्हें यूरीन टेस्ट जरूर कराता है ताकि उसकी बीमारी को समझा जा सके।

आगे पढ़े: अगर आपको भी पैरों के तलवों में होती है जलन, तो ये घरेलू नुस्खे दिलाएंगे आपको तुरंत राहत

मसल्स क्रैम्पस होना

अक्सर हम उठते या बैठते समय लगता है कि हमारे मसल्स में क्रैम्पस आ गया है या पैर या पीठ में जकड़न के साथ तेज दर्द महसूस होता है। कभी-कभी ऐसा हुआ तो परेशानी नहीं है लेकिन यह आपको नियमित रूप से होता है तो यह किडनी संबंधी बीमारी की वजह हो सकता है।

Disclaimer:  यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.