बिहार खबरें

Vitamin For Women Health

Vitamin For Women Health :  महिलाएं घर की नींव होती हैं, जो पूरे घर का भार अपने कंधों पर ढोती हैं। घर के काम काज हो या दफतर के काम, पति हो या बच्चे। सभी को महिलाएं बखूबी संभालती हैं। लेकिन महिलाएं अक्सर अपने ही खाने पीने (Most important vitamins for women) को लेकर बहुत ज्यादा लापरवाह होती हैं। जिसकी वजह से एक आयु के बाद उन्हें पुरुषों के मुकाबले अधिक स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन समस्याओं से बचे रहने के लिए और खुद को फिट रखने के लिए जरूरी है कि 40 साल के बाद महिलाएं कुछ सप्लीमेंट्स का सेवन करें।

Vitamin For Women Health

क्योंकि इस उम्र के बाद शरीर के अंग अपनी क्षमता खोने लगते हैं और शरीर को कोई पोषक तत्व या तो मिल नहीं पाते, या फिर शरीर भोजन से उन्हें पूरी तरह निकाल नहीं पाता। ऐसे में यह सप्लीमेंट्स इन्ही पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने का काम करते हैं। आइए विशेषज्ञों के माध्यम से जानते हैं कि कौन से सप्लीमेंट्स आपको 40 के बाद लेने चाहिए।

महिलाओं की फिटनेस की लिए जरूरी विटामिन (Vitamin For Women Health)

Vitamin E

महिलाओं को फिटनेस (Healthy vitamins for women) के साथ अपनी ब्यूटी का भी ख्याल रखना पड़ता है। हर महिला की कोशिश होती है कि वो लंबे समय तक जवां और खूबसूरत दिखे। इसके लिए आपको शरीर में विटामिन ई भरपूर मात्रा में होना चाहिए। आपकी त्वचा, बाल और नाखूनों को सुंदर बनाने के लिए विटामिन ई जरूरी होता है। विटामिन ई झुर्रियां और दाग-धब्बे की समस्या को दूर करने में मदद करता है. आप खाने में विटामिन ई से भरपूर जैसे बादम, पीनट, बटर और पालक का सेवन कर सकती हैं।

आगे पढ़ें: क्या आपको पता हैं मच्छर क्यों पीते हैं इंसानों का खून, वैज्ञानिकों ने बताई चौंकाने वाली वजह

Vitamin D 

उम्र बढ़ने के साथ-साथ महिलाओं को हड्डियों से जुड़ी समस्या होने लगती है। पीठ दर्द, घुटने और टखनों में दर्द जैसी समस्याएं पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में ज्यादा होती हैं। हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए कैल्शियम और विटामिन डी की प्रचुर मात्रा में आपूर्ति आवश्यक है। इसलिए, आहार में कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर फूड्स को शामिल (Vitamin D benefits for women’s health in hindi) करने की जरूरत होती है। मशरूम, दूध, पनीर, सोया प्रोडक्ट, अंडे, मक्खन, दलिया, फैट से भरपूर फिश जैसे फूड्स विटामिन डी और कैल्शियम से भरपूर होते हैं।

Vitamin B9

महिलाओं के शरीर में प्रेग्नेंसी के दौरान कई तरह के बदलाव होते हैं। गर्भावस्था में शरीर को ज्यादा विटामिन्स की जरूरत होती है। अगर विटामिन्स की कमी रहती है तो बच्चों के जन्म के समय कुछ परेशानियां हो सकती हैं। प्रेग्नेंसी में महिलाओं को खुद का और शिशु का ख्याल रखने के लिए विटामिन्स बी-9 का सेवन करना चाहिए। फोलिक एसिड से बच्चे के दिमाग के विकास में मदद मिलती है। आप इसके लिए बीन्स, ग्रेन, यीस्ट जैसे खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आगे पढ़ें: अगर अचानक बढ़ने लगा है आपका वजन तो हो जाए सावधान, कही आप भी तो नहीं हो रहे है कैंसर के शिकार

Vitamin A

महिलाओं को 40 और 45 की उम्र के बीच एक बड़े हार्मोनल परिवर्तन से गुजरना पड़ता है। इस उम्र में महिलाओं को मेनोपॉज सहित कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे में त्वचा में कई तरह के बदलाव (Vitamin A benefits for women’s health in hindi) हो सकते है। इसलिए इस समय महिलाओं को विटामिन ए से भरपूर फूड्स जैसे गाजर, पपीता, कद्दू के बीज और पालक को शामिल करना चाहिए।

Vitamin B12

विटामिन बी12 की कमी ज्यादातर महिलाओं में पाई जाती है। विटामिन बी12 आपके हृदय को स्वस्थ रखने और आपकी त्वचा को सुंदर और मुलायम बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन बी12 आपके शरीर में रक्त की आपूर्ति को नियंत्रित करने और आपके बालों को मजबूत बनाने में मदद करता है। मेटाबॉलिज्म बढ़ाने और इम्युनिटी मजबूत करने के लिए भी विटामिन बी12 जरूरी है। ये महिलाओं को स्तन, कोलन, फेफड़े और प्रोस्टेट कैंसर से बचाने में भी मदद करता है। आप अपने आहार में अंडा, पनीर, दूध, दही, सोया दूध और चिकन, फिश जैसे फूड्स को शामिल करके विटामिन बी 12 की कमी को पूरा कर सकते हैं।

आगे पढ़ें: किडनी को हेल्दी रखने के लिए इन चीजों को अपनी डाइट में करें शामिल, नहीं होगी कोई दिक्कत

Vitamin K

विटामिन के शरीर को ताकत देने और इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाता है। आपको हार्ट (Heart) और फेफड़ों की मसल्स (Lungs Muscles) के इलास्टिक फाइबर को बनाए रखने के लिए भी विटामिन के जरूरी है। विटामिन के से भरपूर स्रोत के तौर पर आप अपने आहार में ब्रोकली, केला, एवोकाडो, नट्स, अंडा और बैरीज शामिल कर सकते हैं।

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की बिहार खबरें पुष्टि नहीं करता है। इनको केवल सुझाव के रूप में लें। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.