बिहार खबरें

खगड़िया के एक युवक और कटिहार के दो स्टूडेंट्स के खाते में अचानक रुपए आने का मामला अभी खत्म भी नहीं हुआ है कि मुजफ्फरपुर में भी एक बुजुर्ग के खाते में आए 52 करोड़ रुपए । कटरा थाना क्षेत्र का यह मामला आग की तरह गांव में फैला तो अन्य लोग भी अपने अकाउंट चेक करने बैंक और CSP सेंटर पहुंचने लगे हैं। वहीं, बैंक अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं।

मुजफ्फरपुर के एक बुजुर्ग के खाते में आए 52 करोड़ रुपए

मुजफ्फरपुर के एक बुजुर्ग के खाते में आए 52 करोड़ रुपए

बुजुर्ग व्यक्ति अपनी वृद्धा पेंशन की राशि चेक करवाने के लिए निजी सीएसपी संचालक के पास गया। उन्होंने सीएसपी संचालक को अपना आधार कार्ड दिया और राशि चेक करवाने के लिए अंगूठा लगवाया। इसके बाद सीएसपी संचालक दंग रह गया। वह सोचने लगा कि आखिर 52 करोड़ से अधिक राशि उस बुजुर्ग के खाते में कैसे पहुंची। यह बात धीरे-धीरे इलाके में आग की तरह फैल गई। जब इस मामले की जानकारी लेने के लिए पत्रकार पहुंचे तो राम बहादुर शाह ने बताया कि हम वृद्धा पेंशन चेक कराने को लेकर एक नजदीकी सीएसपी संचालक के पास गए थे।

बुजुर्ग व्यक्ति ने की सरकार से ये मांग

मुजफ्फरपुर के एक बुजुर्ग के खाते में आए 52 करोड़ रुपए

उन्होंने कहा कि “सीएसपी संचालक की बात सुनकर हम हैरान हो गए कि आखिर राशि आई कहां से, हम खेती किसानी करके जीवन यापन करते हैं और उसी से जीवन चलता है।” उन्होंने मोदी सरकार से मांग करते हुए कहा कि उस राशि से कुछ उन्हें भी मुहैया करा दिया जाए, जिससे उनका बुढ़ापा अच्छे से कट जाए।

आगे पढ़ें: आधार कार्ड सेंटर कैसे खोले | How to open Aadhar Card center in hindi

बेटे सुजीत का कहना है- “इतना पैसा कहां से आया, किसी को नहीं पता। पिता जी के खाते में हज़ार-दो हज़ार रुपए से कभी ज़्यादा नहीं होते हैं। पूरा परिवार किसान है। आमदनी बहुत अच्छी नहीं है।’

जांच में जुटी पुलिस

वहीं मामले को लेकर कटरा थाने के सब इंस्पेक्टर मनोज पांडे ने कहा कि स्थानीय लोगों और मीडिया के माध्यम से हमें जानकारी मिली है कि सिंगारी के एक युवक के खाते में 52 करोड़ से अधिक राशि आई है। जिसकी चर्चा क्षेत्र में काफी जोरों-शोरों से है। जो भी वरीय पदाधिकारी का आदेश होगा उस तरह से हम लोग काम करेंगे। फिलहाल हम लोगों ने स्थानीय चौकीदार को इस मामले की सूचना दे दी है। कल अहले सुबह पुलिस पदाधिकारी जाकर मामले की छानबीन करेंगे और जिस संबंधित बैंक में उनका खाता है उन पदाधिकारी से भी पूछताछ की जाएगी।

आगे पढ़ें: झारखंड के रामगढ़ में बस व कार में भीषण टक्‍कर से लगी आग, बिहार के 5 लोग जिंदा जले

इससे पहले खगड़िया जिले में एक बड़ा ही दिलचस्प मामला सामने आया था। रंजीत दास के खाते में अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। खाते में रुपये आने के बाद उस व्यक्ति को लगा कि पीएम मोदी ने उसके खाते में ये रुपये भेजे हैं। उसने अपने खाते से वो रुपये निकाल लिए और खर्च करना शुरू कर दिया।

आगे पढ़ें: Muzaffarpur Cylinder Blast: गैस सिलेंडर फटने से माँ समेत तीन बच्चों की मौत, खाना बनाने के दौरान हुआ हादसा

बैंक की ओर से रंजीत दास को रुपये वापस करने के संदर्भ में कई नोटिस भी भेजे गए, लेकिन उसने पैसे वापस करने से साफ मना कर दिया। आखिरकार, बैंक की ओर से रंजीत दास के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। पुलिस ने रंजीत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *