बिहार खबरें

अगर आप जोखिम नहीं लेना चाहते हैं तो Post office में भारत सरकार की कई बचत योजनाएं हैं। जिसमें आप निवेश कर सकते हैं। सरकार इन सेविंग स्कीम्स के इंटरेस्ट रेट में समय-समय पर बदलाव करती है। इस बचत योजनाओं पर 4 फ़ीसदी से लेकर 7.6 फ़ीसदी तक सालाना ब्याज मिलता है। इन योजनाओं में निवेश पर गारंटी रिटर्न हासिल कर सकते हैं। 

Post office

Post office की करोड़पति बनाने वाली चार स्कीम्स

प्रिविडेड फंड (PPF), रिकरिंग डिपॉजिट (RD), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC), टाइस डिपॉजिट (TD) स्कीम है। इस स्कीम के जरिए निवेशक कुछ ही सालों में बड़ा फंड बनाकर तैयार कर सकते हैं।

PPF (प्रीविडेड फंड) 

भारत में सबसे लोकप्रिय PPF टैक्स सेविंग स्कीम है। इसमें किया गया निवेश 15 साल में मैच्योर होता है। PPF के निवेश पर भी 5 साल का लॉकइन पीरियड होता है। इस स्कीम में इस समय 7.1 फ़ीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलता है। अगर आप हर साल 1.5 लॉक रुपए लगाते हैं, और 25 साल तक पैसा लगाते हैं, तो आपको कुल निवेश 37,50,000 रुपए का होगा। 25 साल बाद मैच्योरिटी पर रकम 1.03 करोड़ों रुपए हो जाएगी। क्योंकि इसमें आपको कंपाउंडिंग ब्याज का फायदा मिलता है।

https://www.biharkhabre.com/डाकघर-के-बदले-नियम/

RD (रिकरिंग डिपॉजिट)

5 साल के लिए पोस्ट ऑफिस में RD रिकरिंग डिपॉजिट पर भी ज्यादा ब्याज पा सकते हैं। पोस्ट ऑफिस की स्कीम पर 5.1 फ़ीसदी ब्याज मिल रहा है। अगर आप अधिकतम सालाना जमा 1,50,000 रुपए लगाते हैं तो कंपाउंडिंग ब्याज के हिसाब से 27 साल के बाद आप की रकम करीब 99 लाख रुपए हो जाएगी। इसमें आपका कुल निवेश 40,50,000 रुपए का होगा।

TD (टाइम डिपॉजिट) 

इसके अलावा पोस्ट ऑफिस में टाइम डिपाजिट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं। जिसमें आप 1,2,3 और 5 साल तक के लिए निवेश कर सकते हैं। 1 से 3 साल तक के लिए निवेश पर 5.5 फ़ीसदी और 5 साल के लिए निवेश करने पर 6.7 फ़ीसदी ब्याज मिलेगा। अगर आप इस स्कीम में जमा 15 लाख करते हैं तो ब्याज दर 6.7 फ़ीसदी सालाना मिलता है। तो आप 30 साल में करोड़पति बन सकते हैं।

NSC (नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट)

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) पोस्ट ऑफिस के 5 साल के नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट पर फिलहाल 6.8 फ़ीसदी ब्याज मिल रहा है। इस में किए गए निवेश पर इनकम टैक्स के सेक्शन 80c के तहत टैक्स छूट भी मिलती है। ब्याज दर की बात करें तो दूसरे स्मॉल सेविंग स्कीम में ब्याज दर की हर तिमाही समीक्षा की जाती है। लेकिन एनएससी में निवेश के समय ब्याज दर पूरे मेच्योरिटी पीरियड तक के लिए एक ही रहती है।

 

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *