बिहार खबरें

Dubai work permit visa kaise paye | दुबई, आबुधाबी जैसे शहर भारतीयों को हमेशा से आकर्षित करते रहे हैं. खासकर, यहां नौकरी करने जाने वाले भारतीयों की तादाद काफी ज्यादा है. अब भारतीय सहित सभी विदेशी नागरिकों के लिए इन जगहों पर नौकरी करना और आसान हो जाएगा।

Dubai work permit visa kaise paye

अगर आपको संयुक्त अरब अमीरात में जॉब (Work Visa Dubai) मिल गया है तो आगे की जरूरी प्रक्रिया को समझना होगा। UAE private sector में जॉब पाने के बाद आपको आगे क्या करना है यह जानना जरूरी है ताकि UAE में सेटल होने में कोई परेशानी न हो।

सबसे पहले देखें ऑफर लेटर वैध है या नहीं 

  • अगर आप संयुक्त अरब अमीरात में काम करना चाहते हैं तो UAE-based company में काम का जॉब ऑफर लेना होगा। ऑफर लेटर में जरूरी डिटेल होती है जिसपर कामगार और नियोक्ता का सिग्नेचर होता है।
  • अगर आप यह चेक करना चाहते हैं कि आप को दिया गया ऑफर लेटर वैध है या नहीं तो आपको यह ध्यान रखना होगा कि ऑफर लेटर को एक बार कामगार और नियोक्ता के सिग्नेचर के बाद कोई भी बदलाव नहीं किया जा सकता है। लेकिन दोनो पार्टी की सहमति के बाद ऐसा किया जा सकता है। यह ध्यान रखना चाहिए कि कामगार के किसी भी अधिकार का हनन न हो।
  • इसके साथ ही नियोक्ता को यह ध्यान रखना होगा कि कामगार ने ऑफर लेटर को ठीक से पढ़ा और समझा है। अगर ऐसा नहीं होता है तो Ministry of Human Resources and Emiratisation (MOHRE) के द्वारा Dh 20,000 का जुर्माना लगाया जाएगा।
  • अगर कामगार कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के समय संयुक्त अरब अमीरात में है तो MOHRE की अनुमति लेकर कंपनी work permit के आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर सकती है। ऑफर लेटर की बातों को MOHRE को जरूर डिटेल में बतानी होगी। ऑफर लेटर के आधार पर ही कामगार को वर्क परमिट दिया जाएगा।

आगे पढ़ें: Dubai me job kaise paye | घर बैठे दुबई में जॉब पाना हुआ और भी आसान, वो भी बिल्कुल फ्री, आइए जानते हैं कैसे

कॉन्ट्रैक्ट साइन करना 

अब नियोक्ता और कामगार को एम्प्लॉयमेंट कॉन्ट्रैक्ट (Work Visa Dubai) को साइन करने की सारी प्रक्रिया पूरी करनी होगी। एम्प्लॉयमेंट कॉन्ट्रैक्ट ऑफर लेटर के आधार पर होना चाहिए और 14 दिन में MOHRE को सौंप देना होगा।

अब कामगार (employment entry permit) या स्टेटस चेंज के आधार पर यूएई में आ सकता है। employment contract की भाषा की बात करें तो MOHRE के अनुसार लेबर कॉन्ट्रैक्ट (Dubai work permit visa kaise paye) में अरबी या इंग्लिश के अलावा एक और कोई भाषा कामगार चुन सकता है। तीसरे भाषा के तौर पर केवल चुनिंदा भाषाओं को ही चुना जा सकता है जिसमे शामिल हैं

  • Bengali
  • Chinese
  • Dari
  •  Hindi
  • Malayalam
  • Nepalese
  • Sinhalese
  • Tamil
  • Urdu

आगे पढ़ें: Email id se paise kaise kamaye | केवल 15 मिनट ई-मेल पढ़कर कमाएं पैसा, हर महीने होगी मोटी कमाई

वर्क परमिट 

अब फाइनली आपको वर्क परमिट लेना होगा। वर्क परमिट जिसे लेबर कार्ड भी कहा जाता है उसे पाने के बाद आप आसानी से काम कर पाएंगे। इस काम में आपको MOHRE के साथ साथ General Directorate of Residency and Foreigners Affairs (GDRFA) की भी मदद लेनी होगी। संयुक्त अरब अमीरात में सेल्फ स्पॉन्सरिंग की भी सुविधा उपलब्ध है। बाद में आपकी स्पॉन्सरिंग कम्पनी medical testing, obtaining UAE Resident Identity (Emirates ID) Card, Labour Card समेत सभी काम को 60 दिन के भीतर कर देती है।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *