बिहार खबरें

बिहार में नये बहाल 387 दारोगा ट्रेनिंग के दौरान परीक्षा में हुए फेल । बिहार पुलिस एकेडमी राजगीर देश का सबसे बड़ा पुलिस ट्रेनिंग सेंटर का रूप लेने वाली है। यहां ट्रेनिंग के लिए तमाम सभी सुविधाएं हैं, जो देश के अन्य किसी भी एक केंद्र में नहीं हैं। यहां से हाल ही में 1581 अवर निरीक्षक पासआउट हुए हैं। उन्हें प्रोबेशन पीरियड (परीविक्षा काल) के तौर पर जिलों में तैनात किया गया है। लेकिन, चौंकाने वाला तथ्य यह कि इनमें से करीब एक-चौथाई दारोगा ऐसे हैं, जिन्होंने दारोगा की अंतिम परीक्षा पास नहीं की है। 1581 पासआउट हुए दारोगा में से फेल 387 को सर्टिफिकेट नहीं दिया गया है। उन्हें दो पूरक परीक्षाओं के माध्यम से पास होने का मौका दिया जाएगा। इसमें पास होकर पूर्ण रूप से सेवा दे सकेंगे। अगर दोनों परीक्षाओं पर वे पुन: फेल हो जाते हैं तो उन्हें नौकरी से हटा दिया जाएगा।

बिहार में नये बहाल 387 दारोगा ट्रेनिंग के दौरान परीक्षा में हुए फेल

बिहार में नये बहाल 387 दारोगा ट्रेनिंग के दौरान परीक्षा में हुए फेल

बताया जा रहा है कि ऐसे दारोगा को दो पूरक परीक्षाओं के माध्यम से पास होने का मौका दिया जाएगा। इसमें पास होने के बाद ही वो सेवा दे सकेंगे। अगर दो पूरक परीक्षा में भी वो पास नहीं हो सकेंगे तो उन्हें नौकरी से बाहर कर दिया जाएगा। निदेशक मूल्यांकन विषय 100 अंक का था।  इसमें 27 दारोगा फेल बताये जा रहे हैं। वहीं 10 दारोगा ऐसे हैं जिन्हें शून्य अंक मिला है। तीन दारोगा ऐसे भी बताये जा रहे हैं जो सभी आंतरिक विषयों में शून्य अंक लेकर आए हैं।

बिहार में नये बहाल 387 दारोगा ट्रेनिंग के दौरान परीक्षा में हुए फेल

पासआउट होने के पहले इन दारोगा को कुल 23 सौ अंक की परीक्षा देनी पड़ी थी। 15 सौ के आंतरिक विषय तो 700 बाह्य विषयों (प्रैक्टिकल) के अलावा 100 अंक के निदेशक मूल्यांकन की परीक्षा दी थी। पास होने के लिए कम से कम 50 फीसद अंक लाने थे। बिहार पुलिस एकेडमी से 2018 बैच के पासआउट कुल 1581 में से 1576 दारोगा को जिलों का आवंटित कर दिया गया था। एक सितंबर से ही आवंटित जिलों में वे योगदान दे रहे हैं। 26 अगस्त को सीएम नीतीश कुमार के समक्ष इनकी पासआउट परेड हुई थी। कई महिला दारोगा के प्रेग्नेंट अथवा बीमार होने के कारण जिलों का आवंटन नहीं किया जा सका था।

आगे पढ़ें: बिहार फ्री लैपटॉप योजना 2021 के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें | Bihar Free Laptop Yojana 2021

बिहार के इन जिलों में इतने दारोगा भेजे गये

मुजफ्फरपुर 91, सारण 79, पटना 71, भागलपुर 70, सीवान 61, वैशाली 55, समस्तीपुर 53, दरभंगा 48, रोहतास 49, बेतिया 46, मोतिहारी 44, बांका व सहरसा 43-43, गोपालगंज व आरा 41-41, कैमूर, अररिया, सुपौल, व मधुबनी 40-40, खगड़िया पूर्णिया, व गया 37-37, किशनगंज व बक्सर 36-36, बेगूसराय व कटिहार 35-35, जमुई 34, नालंदा 32, मधेपुरा, सीतामढ़ी व मुंगेर 27-27, नवगछिया 25, बगहा व अरवल 24-24, नवादा 22, औरंगाबाद 19, लखीसराय 17, शिवहर 15, शेखपुरा 13, जहानाबाद 11।

आगे पढ़ें: Railway recruitment 2021 10th pass: 10वीं पास रेलवे में बिना परीक्षा पा सकते हैं नौकरी, जल्द करें आवेदन

बिहार पुलिस एकेडमी राजगीर के निदेशक भृगू श्रीनिवासन ने कहा

बिहार पुलिस एकेडमी राजगीर के निदेशक भृगू श्रीनिवासन का कहना है कि जो दारोगा फाइनल परीक्षा के एक या अधिक विषयों में फेल हुए हैं, उनके लिए पूरक परीक्षा का आयोजन अगले माह किया जाएगा। उन्हें दो पूरक परीक्षाओं में बैठकर पास होने का मौका दिया जाता है। बावजूद अगर परीक्षा पास करने में असफल रहते हैं तो उन्हें सेवा से बाहर कर दिया जाएगा।

 

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.