बिहार खबरें

राजस्थान की अफसर फैमिली: राजस्थान के हनुमानगढ़ की तीन बहनों ने एक साथ ही राज्य प्रशासनिक सेवा की परीक्षा पास की है। इस सफलता के साथ ही उन्होंने पहले से अफसर बनीं अपनी दो बहनों को जॉइन कर लिया है। इस तरह से एक ही परिवार से 5 बहनें राजस्थान प्रशासनिक सेवा की अधिकारी बन गई हैं। भारतीय वन सेना के अधिकारी प्रवीण कसवान ने इस खबर को ट्विटर पर तीनों बहनों की तस्वीर के साथ शेयर किया है। कसवान ने ट्वीट किया, ‘एक बेहद अच्छी खबर है। अंशु, रीतु और सुमन राजस्थान प्रशासनिक सेवा की अधिकारी बन गई हैं, हनुमान गढ़ की रहने वाली हैं।

राजस्थान की अफसर फैमिली

प्रवीण कसवान ने लिखा, ‘तीनों ने अपने माता-पिता को गर्व का यह क्षण दिया है। ये 5 बहनें हैं, जिनमें से दो रोमा और मंजू पहले ही आरएएस अफसर हैं। इस तरह अब सहदेव सहरन की पांचों बेटियां अब प्रशासनिक अधिकारी बन गई हैं।’ प्रवीण कसवान के इस ट्वीट को अब तक बड़ी संख्या में लोग लाइक और ट्वीट कर चुके हैं। यही नहीं सोशल मीडिया पर लोग इन बहनों की जमकर तारीफ कर रहे हैं। राजस्थान पब्लिक सर्विस कमिशन की ओर से मंगलवार को राजस्थान प्रशासनिक सेवा 2018 का परिणाम मंगलवार को जारी किया था, जिसमें तीनों बहनों का सलेक्शन हुआ है।

राजस्थान की अफसर फैमिली, पिता ने कहा हमने बेटियों को हीरे की तरह निखारा

राजस्थान की अफसर फैमिली

अब पांचों बेटियों के अफसर बनने के बाद उनके पिता सहदेव कहते हैं कि बेटों की चाहत रखने वाले अब सबक लेना चाहिए। उन्होंने कहा हमने बेटियों को कभी अभिशाप नहीं समझा, बल्कि उन्हे हीरे की तरह निखारा। उनकी हर बात पर ध्यान दिया। उन्होंने कहा कि मैंने जब बेटियों को पढ़ाया तो समाज के लोगों ने ताना दिया कि बेटियों को इतना पढ़ाकर क्या करोंगे, इन्हें दूसरे घर जा कर काम करना है, लेकिन बेटियों को अफसर बनाने की इच्छा के चलते समाज के ताने भी सुने। सहदेव का कहना है कि मेरी दो बड़ी बेटियों में एक रोमा का साल, 2011 और दूसरी मंजू का 2012 में राज्य सेवा में चयन हुआ तो छोटी बहनों को भी उनसे प्रेरणा मिली। दोनों बड़ी बहनें भी तीनों की लगातार पढ़ाई को लेकर मदद करती थी।

तीनों बहनें बोली हमने लक्ष्य तय कर तैयारी की

राजस्थान की अफसर फैमिली

सुमन, अंशु और रितु का कहना है कि दो बड़ी बहनों का राज्य सेवा में चयन होने के बाद हमने लक्ष्य तय कर अफसर बनने को लेकर तैयारी शुरू की। तीनों ने आरएएस अफसर बनने का लक्ष्य रखा, उसी हिसाब से प्रतिदिन सात से आठ घंटे पढ़ाई की।

आगे पढ़ें: बिहार डीजीपी एसके सिंघल का फरमान, ड्यूटी के दौरान वर्दी नहीं पहनने वाले पुलिसकर्मी पर होगी कार्रवाई

उन्होंने बताया कि तीनों ने गांव के सरकारी स्कूल में एक साथ पांचवीं कक्षा तक पढ़ाई की। उसके बाद अलग-अलग स्कूलों में पढ़ाई की। तीनों में अंशु ने ओबीसी गर्ल्स में 31, श्रृतु ने 96 और सुमन ने 98वीं रैंक हासिल की। अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता को देते हुए तीनों बहनें बोलीं, अब हम समाज की सेवा करने के साथ ही बालिका शिक्षा पर विशेष जोर देंगे।

आगे पढ़ें: तिलैया बांध पर पिकनिक मना रहे बक्सर के डीएसपी की सर्विस रिवाल्वर से चली गोली दोस्त की हुई मौत

इस परिणा में झुंझुनू की मुक्ता राव ने टॉप किया है, जबकि टोंक के मनमोहन शर्मा दूसरे और जयपुर की शिवाक्षी खंडाल तीसरे नंबर पर आए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी राज्य प्रशासनिक सेवा में टॉप करने वाले लोगों को ट्वीट कर शुभकामनाएं दी हैं। सीएम अशोक गहलोत ने लिखा, ‘झुंझुनू की मुक्ता राव को आरएएस एग्जाम में टॉप करने पर बधाई। टोंक के मनमोहन शर्मा और जयपुर की शिवाक्षी खंडाल को भी शुभकामनाएं। इसके अलावा परीक्षा में पास होने वाले अन्य सभी अभ्यर्थियों को भी बधाई। यह राज्य की समर्पण के साथ सेवा करने का सुनहरा मौका है। मेरी सभी को शुभकामनाएं।’

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.