बिहार खबरें

PFI के विवादित पोस्टर: विवादों के घिरे संगठन PFI ने अयोध्या के बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचा को गिराए जाने को लेकर बिहार के कटिहार में पोस्टर लगाए हैं। कटिहार के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय के बाहर लगाए गए हैं इन पोस्टरों में बाबरी मस्जिद को लेकर उकसाने वाली टिप्पणी की गई है। इसमें लिखा है कि 6 दिसंबर को भूल ना जाएं। इन पोस्टरों में बाबरी मस्जिद के तीनों गुंबदो की तस्वीर है। यह पोस्टर पूर्णिया जेल चौक, आस्था मंदिर चौक और दरभंगा जिले के भी कई इलाकों में इन पोस्टरों को लगाया गया। PFI के विवादित पोस्टर को लेकर प्रशासन अलर्ट पर हैं।

PFI के विवादित पोस्टर

इन पोस्टरों को लेकर उप मुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है। विदित को 6 दिसंबर के दिन ही 1992 में अयोध्या  में बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचा को गिराया गया था। लंबी कानूनी लड़ाई व सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब यहां राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है।

ईडी की छापेमारी।

आपको बता दें कि 2 दिन पहले गुरुवार को दरभंगा पूर्णिया में एक साथ ईडी ने छापेमारी की। दरभंगा जिले में सिंहवाड़ा थाना क्षेत्र के शंकरपुर गांव में गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने पीपुल्स फ्रंट ऑफ इंडिया के बिहार के जनरल सेक्रेटरी मोहम्मद सनाउल्लाह के घर पर छापेमारी की। टीम ने विदेशी फंडिंग को लेकर मोहम्मद सनाउल्लाह के परिवार के घर तथा पूर्णिया के राजाबाड़ी स्थित संगठन के प्रदेश कार्यालय में छापेमारी के दौरान ईडी को विरोध का भी सामना करना पड़ा था।

आइए जानते हैं PFI संगठन के बारे।

PFI यानी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया एक उग्र इस्लामिक संगठन है।जो लोगों को हक दिलाने और समाज सेवा करने का दावा करता है। इसका गठन 2006 में किया गया था यह संगठन 16 राज्यों में फैला हुआ है। 15 से ज्यादा मुस्लिम संगठन इससे जुड़े हुए हैं। झारखंड में  PFI पर बैन लगाया गया था। झारखंड सरकार को इसका लिंग सीरिया से मिले थे। 2018 में केरल में इसे बैन करने की मांग उठी थी।

//www.biharkhabre.com/bihar-sainik-school/

बताया जाता है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के दिल्ली और उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा तथा CAA कानून लागू होने के विरोध में फंडिंग का आरोप है। ईडी की टीम ने PFI के प्रदेश बिहार प्रदेश अध्यक्ष महबूब आलम से भी 6 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की है। टीम बैंक खाते, छात्रों को दी गई स्कॉलरशिप के कागजात के अलावा कई अन्य कागजात भी साथ ले गई है। ईडी की टीम ने पीएफआई के पूर्णिया संगठन के अलावा विस्तृत जानकारी लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष से ली है।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *