बिहार खबरें

बिहार में 2021 पंचायत चुनाव प्रस्तावित हैं। चुनाव आयोग के साथ-साथ प्रशासनिक स्तर पर भी इसकी तैयारियां शुरू हो गई है। संभावना जताई जा रही है कि मार्च के बीच पंचायत चुनाव होगा। सूत्रों का कहना है कि आयुक्त विचार कर रहा है कि पंचायत चुनाव अधिकतम 9 चरणों में हो। लोकसभा और विधानसभा चुनावों में प्रत्याशियों के चुनाव खर्च सीमा बढ़ाने के बाद इसका विस्तार स्थानीय स्तर पर होने की पूरी संभावना है।Panchayat Election 2021 अप्रैल-मई में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होना है। पंचायत आम चुनाव 2016 में प्रत्याशियों के चुनाव खर्च की सीमा को बढ़ाया गया था। Panchayat Elections 2021 में चुनाव आयोग ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों में प्रत्याशियों के चुनाव खर्च की सीमा में 10% का इजाफा किया है।

Panchayat Election 2021l

Panchayat Election 2021 कोरोना की चुनौतियों को देखते हुए

कोरोना की चुनौतियों के बीच 2.85 लाख पदों के लिए पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर पंचायत चुनाव के बुथो का गठन नए मानकों के अनुसार किया जाएगा। इस कड़ी में सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए बूथों की संख्या बढ़ाए जाने की भी चर्चा है। मिल रही जानकारी के अनुसार राज्य निर्वाचन आयोग ने रविवार को सभी जिलों के जिलाधिकारियों से कई तरह की सुरक्षा मांगी हैं। आयोग ने जिलों से पूछा है कि कितने चरणों में चुनाव कराना अच्छा होगा।https://www.biharkhabre.com/campus-placement/

बिहार पंचायती राज अधिनियम 2016 एवं बिहार पंचायत निर्वाचन नियमावली 2016 के तहत आयोग ने उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी है। आयोग के अनुसार पंचायत आम निर्वाचन 2021 एवं आम निर्वाचन के पश्चात पंचायतों के कतिपय कारणों से रिक्त पदों के उप चुनाव को लेकर यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। एक अन्य निर्देश में आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने कहा कि सभी जिला पदाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी को वर्ष 2021 में मार्च से मई के बीच एवं ग्राम कचहरीयों का आम चुनाव कराए जाने की संभावना है। आयोग ने कहा कि पंचायत चुनावों की नियुक्ति को लेकर सरकार को पत्र लिखा जा रहा है।

ईवीएम के माध्यम से आयोजित

ईवीएम के माध्यम से यदि पंचायत चुनाव आयोजित होता है तो त्रिस्तरीय ग्रामीण स्थानीय निकायों में 2.58 लाख पदों को भरने के लिए यही पहला इलेक्ट्रॉनिक मतदान प्रयोग होगा। सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि 2016 के पंचायत चुनाव में राज्य सरकार ने 250 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

मतगणना अनुमंडलीय मुख्यालय में कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए चुनाव बड़े हॉल में कराया जाना है। अनुमंडल मुख्यालय में बज्रग्रह के लिए भवन चिन्हित कर, इसकी सुरक्षा अर्दूसैनिक बल, जिला बल द्वारा की जानी है। आयोग के सचिव ने निर्देश दिया कि सभी डीएम अपने जिले के वरीय पुलिस अधीक्षक और अन्य संबंधित पदाधिकारियों के साथ विमर्श करने के बाद उनके जिले में कितने चरण में पंचायत चुनाव है। इसका प्रस्ताव बनाकर भेजिए। आयोग के अनुसार अधिकतम 9 चरणों में पंचायत चुनाव होंगे।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *