बिहार खबरें

नालंदा में युवक को अगवाकर जिंदा जलाया । बिहार थाना इलाके के मुसेपुर मोहल्ले से बीते 16 अक्टूबर को 50 लाख रुपये फिरौती के लिए अपहरण किये गए। युवक की हत्या कर शव को जला दिया गया। इस मामले में पुलिस ने एक स्कूल के प्रिंसिपल व उसके सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया है। सदर डीएसपी डा. शिब्ली नोमानी के नेतृत्व में बिहार थाना इंस्पेक्टर संतोष कुमार खोजी कुत्ते के साथ आशानगर स्थित मदर टेरेसा माइकल्स स्कूल पहुंचे। वहां स्कूल का ताला तोड़ कर पुलिस भीतर गयी, जहां गिरफ्तार दीपक की निशानदेही पर हत्या के कई साक्ष्य मिले हैं। युवक को जिन्दा जलाकर, उसके शव को टुकड़ों में कर पंचाने नदी में फेंक दिया था। गिरफ्तार स्कूल संचालक दीपक कुमार मृतक के परिवार का सदस्य है।

उसके मोबाइल से ही मांगी गई थी फिरौती

नालंदा में युवक को अगवाकर जिंदा जलाया

सदर DSP शिब्ली नोमानी ने बताया- “बदमाशों की निशानदेही पर स्कूल परिसर से हत्या के साक्ष्य मिले हैं। डॉग स्क्वायड बुलाया गया है। घटना में संलिप्त अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।’  सदर डीएसपीडा ने बताया कि अपहरण के बाद इन लोगों ने नीतीश के परिवार से 50 लाख रुपए फिरौती की मांग की थी। परंतु इससे पहले ही उसकी हत्या कर स्कूल में जला दिया। फिर शव को पंचाने नदी में फेंक दिया।

उसके मोबाइल से ही मांगी गई थी फिरौती

मौके से जली लकड़ियों के अवशेष मिले हैं। इस मामले में स्कूल के प्रिंसिपल दीपक मेहता और उसके सहयोगी अजीत कुमार को गिरफ्तार किया गया है। इस अपहरण और हत्या मामले का सबसे चौंकाने वाला पहलू यह है कि मृतक नीतीश और दीपक दोनों रिश्ते में फुफेरे- ममेरे भाई हैं। जबकि गिरफ्तार अजीत कुमार, सुल्तानपुर गांव नूरसराय थाना इलाके का है।

आगे पढ़ें: बेगूसराय में दो चचेरे भाइयों की हत्या, नदी से दोनों मासमों का शव मिलते ही मचा कोहराम

नीतीश कुमार बिहार थाना इलाके के मुसादपुर अस्पताल चौक निवासी स्व. भुवनेश्वर प्रसाद का पुत्र है। उसकी मां उर्मिला देवी बिजली विभाग में चतुर्थवर्गीय कर्मी है। युवक शनिवार को खंदकपर मोहल्ला निवासी दोस्त से मिलने की बात कहकर घर से निकला था। मां से 150 रुपए लिये थे। रुपए देकर मां ऑफिस चली गई। थोड़ी देर बाद उनके नाती ने फोन कर बताया कि मामा साथी से मिलने खंदकपर चला गया है। मैसेज कर तीन बजे घर लौटने को कहा है। इसके बाद मां ने नीतीश को फोन किया तो मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा था। उसके दोनों नंबर बंद बता रहे थे।

उसके मोबाइल से ही मांगी गई थी फिरौती

दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, उसी दिन रात को साढ़े नौ बजे उनके बेटे के मोबाइल से फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि नीतीश की मम्मी बोल रही हैं। हां कहने पर कहा कि 50 लाख रुपए तैयार रखो। कल शाम को फोन करेंगे। नीतीश उसके पास है। थाना में जाओगी तो उसे जान से मार देंगे। उसके बाद उसका मोबाइल फिर से बंद बताने लगा।

 

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *