बिहार खबरें

बिहार: केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में महागठबंधन ने शनिवार को राजभर में मानव श्रृंखला बनाई। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बुद्ध स्मृति पार्क के पास मानव श्रृंखला में शामिल होते हुए कहा कि महागठबंधन के लोग kisan andolan के समर्थन में उनके साथ खड़े हैं। केंद्र सरकार पूंजीपतियों के साथ हैं। उन्होंने कहा कि बिहार में 2006 से ही किसानों की हक मारी है जा रही है। तेजस्वी बोले काले कानूनों की वापसी तक संघर्ष जारी रहेगा। मानव श्रृंखला का आयोजन दोपहर 12:30 बजे से 1:00 बजे तक किया गया। इसमें राजद के अलावा कांग्रेस एवं तीनों वामदल के नेता कार्यकर्ता सड़क के किनारे खड़े रहे।

kisan andolan

बीमार पिता लालू यादव को दिल्ली एम्स में भर्ती कराकर पटना लौटे। महागठबंधन के घटक दलों के साथ बैठकर समीक्षा की। उन्होंने दावा किया कि पंजाब हरियाणा की तरह बिहार में भी बड़ा kisan andolan  होगा। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए दावा किया कि किसानों के साथ हम अंतिम दम तक खड़े रहेंगे। उन्होंने बिहार में बाजार समिति और मंडी व्यवस्था फिर से लागू करने की मांग की। कहा कि बिहार में 2006 में ही मंडी व्यवस्था खत्म कर दिया गया था। जिससे किसानों को उनकी उपज का सही दाम नहीं मिल पा रहा है। सीएम नीतीश कुमार किसानों को भिखारी बनाने पर तुले हुए हैं। उन्होंने कहा कि मानव श्रृंखला ही हमारे आंदोलन का अंत नहीं है। उसके बाद भी कार्यक्रम चलता है चलते रहेंगे।

kisan andolan

राज्य के अलग-अलग जिलों में भी मानव श्रृंखला में लोग शामिल हुए। महागठबंधन के नेताओं ने कहा कि मानव श्रृंखला के जरिए लोगों को कृषि बिलों की खामियां भी समझाई जाएगी। नेताओं ने कहा कि बिहार में किसान ट्रेन एकम चलने से आंदोलन में भाग नहीं ले पाए हैं।

kisan andolan में तेजस्वी ने साधा नीतीश कुमार पर निशाना

तेजस्वी यादव ने कहा हम मुख्यमंत्री के इस रवैया से चकित है। क्या उन्हें लगता है कि आंदोलनकारी किसानों को सड़क पर मरना उचित है? क्या वे बीजेपी के रुख को सही मानते हैं कि वे गलती कर रहे हैं। यह विश्वास करना कठिन है कि नीतीश कुमार समाजवादी आंदोलन से निकले हुए हैं।

kisan andolan

पूर्व उप मुख्यमंत्री ने दुख जताया मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंदोलन कर रहे किसानों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुए एक ट्वीट तक नहीं किया। जिनमें से कई ने प्रदर्शन के दौरान अपनी जान गवा दी। भीषण ठंड के बावजूद किसान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष ने केंद्र और राज्य सरकारों को किसान विरोधी बताया और कहा कि नए कृषि कानून के जरिए बिहार के किसानों के साथ भी हक मारी की जा रही है। उन्होंने दावा किया कि महागठबंधन के दल किसानों के साथ है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार बिहार में भी किसानों के लिए बाजार सीमित शुरू करें।

आयोजन की अनुमति को लेकर विवाद

मानव श्रृंखला से पहले उसके लिए अनुमति को लेकर विवाद हो गया। पटना जिला प्रशासन की ओर से दावा किया गया कि राजद ने आयोजन की अनुमति नहीं मांगी है। जबकि राजद ने कहा कि उन्हें जनवरी को ही आधिकारिक तौर पर गृह विभाग के प्रधान सचिव को पत्र देकर सूचित किया गया था, जो कि आंदोलन प्रदेश स्तर का है। इसलिए अलग-अलग जिलों से अनुमति लेने की जरूरत नहीं थी। गृह सचिव को सूचित करने के बाद अलग से कोई प्रक्रिया बाकी नहीं रह जाती है।

बिहार में किसान आंदोलन के समर्थन में आयोजित होने वाली मानव श्रृंखला को लेकर कांग्रेस ने अपनी ताकत झोंक दी। कांग्रेस का दावा है कि मानव श्रृंखला ऐतिहासिक हुई। बिहार युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने शुक्रवार को कहा कि प्रस्तावित मानव श्रृंखला में महागठबंधन के सभी घटक दल शामिल हुए। इसमें मजदूर किसान और युवा शामिल होकर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद किया

किसानों के समर्थन में उपवास पर बैठे पप्पू यादव

राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव शुक्रवार को पटना में 1 दिन के उपवास पर बैठे। सुबह 6:00 बजे से शुरू हुआ धरना में पार्टी के कुछ नेता भी उनके समर्थन में उपवास पर रहे। पप्पू ने कहा कि जरूरत पड़ी तो वे दिल्ली भी कुच करेंगे। काले कानून की वापसी तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

 

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *