बिहार खबरें

गया से किडनैप 12 साल के शिवम की सकुशल बरामदगी (Kidnap Shivam recovered from Gaya) हो गई है। किडनैपर्स ने कल गया से उसका अपहरण करके चार लाख रुपए फिरौती की मांग की थी। फिरौती न देने पर बच्‍चे की किडनी बेच देने की धमकी भी दी थी। शिवम के अपहरण को लेकर लोग काफी गुस्‍से में थे। मंगलवार की सुबह उन्‍होंने गया-पटना राष्‍ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगा दिया था। लोगों के सड़क पर उतरने के दो घंटे के अंदर पुलिस ने भागलपुर से शिवम को बरामद कर लिया।

Kidnap Shivam recovered from Gaya

अनिल सोमवार सुबह करीब 11 बजे गजेंद्र के बेटे शिवम से मिला। उसे नई साइकिल दिलाने के नाम पर फुसला कर बाजार ले गया। बाजार में शिवम को अनिल ने बताया कि बोध गया में विदेशी साइकिल मिलती है। इसके बाद उसे वहीं लेकर जाने लगा और रास्ते से ही भागलपुर के लिए निकल गया।

आगे पढ़ें: जमुई जिले में मामी संग भांजे को हुआ प्यार, वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर वायरल

रास्ते से ही अनिल ने गजेंद्र के मोबाइल पर मैसेज किया कि 4 लाख की रकम मेरी बीवी के खाते में जमा कर दे। ऐसा नहीं किया तो शिवम की किडनी बेचकर पैसे वसूल लूंगा। इसके बाद गजेन्द्र हरकत में आए और पुलिस से संपर्क किया। फिर पुलिस ने जांच-पड़ताल की व आरोपी का मोबाइल ट्रेस करते हुए भागलपुर पहुंच गई।

आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम किया

Kidnap Shivam recovered from Gaya

आक्रोशित लोगों ने गया शहर के डेल्हा थाना अंतर्गत बागेश्वरी मंदिर के समीप गया पटना सड़क मार्ग को जाम कर दिया। सड़क जाम कर रहे लोगों का कहना है कि 24 घंटे के बाद भी शिवम को पुलिस खोज नहीं पाई है। पुलिस पूरी तरह नाकाम साबित हो रही है जबकि इस पूरे मामले में एकमात्र नामजद आरोपित है जो फिलहाल अपने घर से फरार है। उसकी गिरफ्तारी भी पुलिस 24 घंटे के बाद नहीं की है। आक्रोशित लोगों ने गया पटना सड़क मार्ग पर बागेश्वरी मंदिर के समीप सड़क जाम कर दिया है। सड़क पर टायर जलाकर अपना विरोध दर्ज किया है। सड़क जाम होने से गया-पटना आने और जाने वाले वाहनों की लंबी कतार लग गई है। ऐसे में आम यात्रियों को काफी असुविधा का भी सामना करना पड़ रहा है।

विवाद पैसा के बंटवारे का 

मामला जिले के डेल्हा इलाके का है। यहां गजेंद्र मिश्रा व अनिल पांडेय पुरोहित का काम करते हैं। दोनों एक साथ यजमानों का पूजा-पाठ भी निपटाते थे। दोनों का एक-दूसरे के घर में आना-जाना भी था। कहा जा रहा है कि किसी मकान को दोनों ने मिलकर बिकवाया था। उसमें हुए लाभ को लेकर अनबन शुरू हुई। अनिल पांडेय का दावा था कि उसके हिस्से का 4 लाख रुपए गजेंद्र दबाए बैठा है, जबकि गजेंद्र इस बात से इनकार करता था।

Kidnap Shivam recovered from Gaya पुलिस शिवम को गया ला रही 

डेल्हा थानाध्यक्ष बबन बैठा ने बताया कि पुलिस टीम अपहृत को छुड़ाने में सफल हुई है। शिवम को लेकर पुलिस टीम गया लौट रही है। उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही सबसे पहले आरोपी अनिल पांडेय की पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई थी। पूछताछ के दौरान ही पुलिस को पता चला कि अनिल की पत्नी गर्भवती है। फिर उसे वापस घर छोड़ दिया गया।

आगे पढ़ें: ससुराल वालों ने विवाहिता को पहले बुरी तरह पीटा, फिर जिंदा जला डाला, घटना के बाद ससुराल वाले हुए फरार

आरोपी की पत्नी और मोबाइल सर्विलांस के आधार पर मिली जानकारी के बाद डेल्हा पुलिस भागलपुर निकल गई। वहां पुलिस ने मंगलवार सुबह अनिल पांडेय को गिरफ्तार कर अपहृत शिवम मिश्रा की सकुशल बरामदगी कर ली।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.