बिहार खबरें

बिहार:  मुजफ्फरपुर के सारण सदर अस्पताल की महिला डाॅक्टर को पति ने बेरहमी से कुर्सी में बांधकर पीटा । प्रताड़ित करने पर रविवार को काजी मोहम्मदपुर थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। घटना माड़ीपुर इलाके की है। महिला चिकित्सक के बयान देने की स्थिति में नहीं होने पर उनके मामा अमित कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। इधर, आरोपित पति की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जब अस्पताल में पहुंची तो वह चकमा देकर भाग निकला। जबकि दो दिनों से वह अस्पताल में रहकर पत्नी का इलाज करा रहा था और रेफर करने को लेकर प्रबंधन पर दबाव बना रहा था।

मुजफ्फरपुर के सारण सदर अस्पताल की महिला डाॅक्टर को पति ने कुर्सी में बांधकर पीटा

मुजफ्फरपुर के सारण सदर अस्पताल की महिला डाॅक्टर को पति ने कुर्सी में बांधकर पीटा

इधर, पुलिस को दिए बयान में चिकित्सक के मामा अमित कुमार ने बताया कि 17 अगस्त की रात 11 बजे भांजी डा. अनामिका ने कॉल कर पति शैलेश रंजन द्वारा बुरी तरह से मारपीट करने की जानकारी दी। जब मैं वहां पहुंचा और दरवाजा खोलने के लिए आवाज दिए तो शैलेश गाली देने लगा। धमकी देते हुए कहा गया कि भाग जाओ नहीं तो मार देंगे। किसी तरह मान मनौव्वल कर दरवाजा खुलवाया। इसके बाद शैलेश दूसरे कमरे में चला गया। भांजी अनामिका फर्श पर पड़ी थी। दोनों को समझाकर वे अपने घर चले गए।

मुजफ्फरपुर के सारण सदर अस्पताल की महिला डाॅक्टर को पति ने कुर्सी में बांधकर पीटा

पुलिस के अनुसार, फर्द बयान में बताया गया है कि आरोपित शैलेश रंजन अनामिका की करोड़ों की संपत्ति पर नजर गड़ाए हुए है। पत्नी की हत्या कर हड़पना चाहता है। इसे लेकर डॉ. अनामिका पर लगातार जानलेवा हमला करता है। पुलिस के अनुसार, 19 अगस्त को भी कुर्सी से बांधकर पिटाई की थी। अधमरा कर छोड़ दिया था। 19 अगस्त को डॉ. अनामिका को अचेतावस्था में भर्ती कराया गया था। इस बारे में एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि घटना की छानबीन तेजी से की जा रही है। आरोपित की गिरफ्तारी होगी।

महिला डाॅक्टर को पति ने कुर्सी में बांधकर पीटा, पीड़िता अस्पताल से डिस्चार्ज नहीं करने का किया आग्रह

केरल में रह रही डॉ. अनामिका की बहन अपर्णा ने जूरन छपरा स्थित निजी अस्पताल के प्रबंधन से फिलहाल किसी भी सूरत में डिस्चार्ज नहीं करने के लिए आग्रह किया है। अस्पताल प्रबंधन के साथ एसएसपी जयंतकांत को इस संबंध में पत्र लिखा है। इसमें कहा है कि आरोपित बार-बार डिस्चार्ज कराने का दबाव देगा। बेहतर इलाज कराने का भी हवाला देगा। वहीं, अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मरीज स्वस्थ होने के बाद ही डिस्चार्ज हो सकता है। अभी स्थिति नाजुक बनी हुई है।

आगे पढ़ें: समस्तीपुर में नाव का किराया मांगने पर 17 वर्षीय युवक की गोली मारकर हत्या, मौके पर पहुंची पुलिस

पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि डॉ. अनामिका की माता शोभना वर्मा व पिता अनंत कुमार वर्मा की मौत कोरोना काल में हो चुकी है। 17 साल पहले शैलेश रंजन के साथ शादी हुई थी। पुलिस की मानें तो शैलेश रंजन ससुराल की संपत्ति हड़पने के लिए पत्नी पर लगातार जानलेवा हमला और मारपीट कर रहा था।

पति पत्नी के बीच तलाक को लेकर कोर्ट में केस लंबित

पुलिस को अपर्णा ने बताया है कि डॉ. अनामिका और शैलेश रंजन के बीच तलाक को लेकर कोर्ट में केस लंबित है। पहले भी पुलिस से कई बार इसकी शिकायत कर चुके थे। पुलिस ने शैलेश को हिरासत में भी लिया था, लेकिन आगे से इस तरह की हरकत नहीं करने का वादा किया था। इसके बाद बॉन्ड बनाकर थाने से छोड़ा गया था। काजी मोहम्मदपुर थानेदार सत्येंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि पूर्व में मिले आवेदन को खोजा जा रहा है।

बेटी ने मां के सुरक्षा को लेकर पुलिस से लगाई गुहार

डॉ. अनामिका की बेटी दूसरे राज्य में रहकर पढ़ाई कर रही है। मां के साथ हुए बर्ताव से बहुत आहत है। उसने पुलिस से अपनी मां की सुरक्षा के लिए गुहार लगायी है। रिश्तेदारों से भी लगातार संपर्क में है। परिजनों ने उसे मुजफ्फरपुर आने से रोक दिया है। परिजनों के मुताबिक, उसकी जान पर भी खतरा है।

 

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.