बिहार खबरें

इजरायल (Israel) में एक नवजात से जुड़ा एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, इजराइल में नवजात बच्ची के गर्भ में मिले एक से अधिक भ्रूण (Girl With Embryo inside) । ये एक दुर्लभ मेडिकल कंडीशन है, जिसे लेकर डॉक्टर भी हैरान हैं। टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्ची का जन्म इस महीने की शुरुआत में अशदोद के असुता मेडिकल सेंटर में हुआ। डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची मां के गर्भ में इस भ्रूण को पाल रही थी। फिलहाल बच्ची की सर्जरी कर उसके भ्रूण को हटा दिया गया है। डॉक्टर्स का कहना है कि 5 लाख नवजात में कोई एक ऐसा मामला सामने आता है।

इजराइल में नवजात बच्ची के गर्भ में मिले एक से अधिक भ्रूण

बच्ची का जन्म जुलाई के शुरुआती हफ्ते में अशदोद के अस्सुता मेडिकल सेंटर में हुआ था। डॉक्टरों ने बताया कि, प्रेग्नेंसी के अंतिम हफ्तों में मां का अल्ट्रासाउंड करने के दौरान नवजात बच्ची का पेट दूसरे बच्चों के मुकाबले बड़ा दिखा था। नवजात के जन्म के बाद डॉक्टर्स ने उसका अल्ट्रासाउंट और एक्स-रे किया। जांच रिपोर्ट में उसके पेट में एक से अधिक भ्रूण होने की पुष्टि हुई।

ऑपरेशन करके नवजात के पेट से भ्रूण को निकाला बाहर

वहीं, मेडिकल सेंटर के शीर्ष विशेषज्ञों की एक टीम ने बच्ची का ऑपरेशन किया और आखिरकार लड़की के पेट से भ्रूण को बाहर निकाल दिया। ग्लोबस ने जोर देकर कहा कि बच्ची के पेट में मौजूद अवशेष पूरी तरह से भ्रूण नहीं था, बल्कि ये सिर्फ आंशिक रूप से विकसित हुआ था।

इजराइल में नवजात बच्ची के गर्भ में मिले एक से अधिक भ्रूण

उन्होंने बताया कि डॉक्टरों को बच्ची के पेट में कुछ हड्डियां और एक दिल भी देखने को मिला। ग्लोबस ने कहा कि ये एक ऐसा भ्रूण नहीं था, जैसा लोग सोच रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऑपरेशन सफल रहा और लड़की के पूरी तरह ठीक होने की उम्मीद है। मां और उसकी बच्ची को घर भेज दिया गया है।

इजराइल में नवजात बच्ची के गर्भ में मिले एक से अधिक भ्रूण, क्या है वजह?

ग्लोबस ने कहा कि इस तरह के मामले कैसे होते हैं, इस बारे में कई सिद्धांत हैं। इसमें से एक ये है कि गर्भावस्था जुड़वा बच्चों के रूप में शुरू होती है लेकिन फिर एक भ्रूण दूसरे भ्रूण में चला जाता है। इस तरह एक भ्रूण जब बच्चे के रूप में बड़ा होता है, तो दूसरा उसके पेट में तैयार होने लगता है।

आगे पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान इन प्रेग्नेंसी डाइट चार्ट को अपने खानपान में शामिल करें, जिस से जज्जा और बच्चा दोनों होंगे स्वस्थ

उन्होंने कहा, ये भ्रूण के विकास की प्रक्रिया के हिस्से के रूप में होता है, जब भ्रूण बनने के दौरान गुहाएं बंद हो जाती हैं और एक भ्रूण दूसरे के भीतर चला जाता है। अंदर का भ्रूण आंशिक रूप से विकसित होता है लेकिन जीवित नहीं रहता है और वहीं मौजूद रहता है।

 

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *