बिहार खबरें

बेतिया: बिहार के बेतिया में केरोसिन से नकली डीजल बनाने का भंडाफोड़ । डीजल-पेट्रोल की कीमत बढ़ने के साथ ही नकली तेल बनाने का काम बिहार में शुरू हो गया है। बिहार के पश्चिम चंपारण में पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो बड़े पैमाने पर केरोसिन तेल में केमिकल मिलाकर नकली डीजल बनाने का काम करता था। हैरत की बात तो यह है कि डीजल का यह काला कारोबार जिला मुख्यालय बेतिया में चल रहा था।

बिहार के बेतिया में केरोसिन से नकली डीजल बनाने का भंडाफोड़

इस गिरोह के चार शातिर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जो नकली डीजल बनाकर मोटी कमाई कर रहे थे। मामला नगर के छोटा रमना मीना बाजार से पुलिस ने ड्रम में भरकर रखे गए 2500 लीटर केरोसिन व केमिकल से बना डीजल, एक पिकअप वैन व 10 किलोग्राम केमिकल पाउडर जब्त की है।

बिहार के बेतिया में केरोसिन से नकली डीजल बनाने का भंडाफोड़

एसपी उपेंद्रनाथ वर्मा ने बताया कि इस धंधे में शामिल छोटा रमना वार्ड नंबर 25 निवासी प्रमोद कुमार, बानुछापर ओपी क्षेत्र के शिवटोला औरैया निवासी अजय कुमार, मुकेश साह व सचिन कुमार को गिरफ्तार किया गया है। एसपी ने बताया कि शुक्रवार को गुप्त सूचना मिली कि मीना बाजार में प्रमोद कुमार केरोसिन में केमिकल मिलाकर नकली डीजल बनाता है। धोखा देकर लोगों से नकली डीजल बेचता है।

बिहार के बेतिया में केरोसिन से नकली डीजल बनाने का भंडाफोड़

एसपी ने बताया गुप्त सूचना पर मिली जानकारी

सूचना पर एसपी ने सदर एसडीपीओ मुकुल परिमल पांडेय के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी का निर्देश दिया। टीम छापेमारी करने पहुंची तो गिरोह के सभी सदस्य केरोसिन से डीजल बनाने में लगे हुए थे। एक पिकअप वैन पर नकली डीजल लोड किया जा रहा था। मौके से केरोसिन व डीजल बनाने वाला पाउडर भी बरामद किया गया। छापेमारी टीम में एसडीपीओ के साथ नगर थानाध्यक्ष राकेश कुमार भास्कर, मुमताज आलम, अनिरुद्ध कुमार पडित, पंकज कुमार सिंह, मुकेश पासवान व पुलिस जवान शामिल रहे।

आगे पढ़ें: बिहार में बिना थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के वाहन चलाने पर लगेगा जुर्माना, दुर्घटना होने पर जब्त व नीलाम होगी गाड़ी

बता दें कि डीजल की कीमत 95 रुपये प्रति लीटर से अधिक हो गई है। धंधेबाज ब्लैक से केरोसिन तेल खरीदते हैं और नकली डीजल बनाकर ऊंचे दाम पर बेच देते हैं। बिहार में केरोसिन की खुले बाजार में बिक्री पर प्रतिबंध है लेकिन केरोसिन तेल पीडीएस डीलर द्वारा राशन कार्ड धारियों को दिया जाता है।

आगे पढ़ें: बिहार सरकार ने रिटायर सैनिक को लेकर किया बड़ा फैसला, 400 निजी कंपनियों में मिलेगा 25 फीसदी आरक्षण

पीडीएस डीलर के पास करीब 40 रुपये लीटर के हिसाब से सरकार की ओर से केरोसिन उपलब्ध कराया जाता है, ऐसे में धंधेबाज पीडीएस डीलर से केरोसिन तेल लेकर नकली डीजल बनाते हैं लिहाजा सवाल उठता है कि डीलर कैसे इन धंधेबाजों को केरोसिन बेच रहा था जबकि केरोसिन सिर्फ राशन कार्डधारकों को ही देना है।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.