बिहार खबरें

पटना: पटना के ये शातिर हर परीक्षा पास कराने की देते है गारंटी येे गिरोह के सरगना के ठिकाने की सूचना मिलने पर पटना पुलिस की विशेष टीम ने एसकेपुरी के आनंदपुरी में दबिश दी। पुलिस दो संदिग्ध को पकड़ थाने लेकर आई। तलाशी के क्रम में तीन लैपटाप और मोबाइल मिला। पुलिस ने बरामद सामानों की जांच की, लेकिन जिस बात की सूचना मिली थी उससे जुड़े साक्ष्य नहीं मिले।जिस ई-मेल के जरिए शिकायत की गई थी वह फर्जी निकला।

पटना के ये शातिर हर परीक्षा पास कराने की देते है गारंटी

एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी की। दो लोगों का सत्यापन किया जा रहा है। हालांकि, जो सूचना मिली थी उससे जुड़ा कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिला है।

पटना के ये शातिर हर परीक्षा पास कराने की देते है गारंटी

पटना के ये शातिर हर परीक्षा पास कराने की देते है गारंटी

पुलिस सूत्रों की मानें तो एक बड़ी प्रतियोगी परीक्षा में साल्वर गैंग द्वारा गड़बड़ी करने की सूचना मिली थी। इस तरह का एक आडियो भी वायरल होने की बात सामने आई थी। जिस सरगना का नाम सामने आया, पुलिस उसके ठिकाने के बारे में जानकारी जुटाने लगी। पता चला कि वह एसकेपुरी थाना क्षेत्र के आनंदपुरी इलाके में है। पुलिस की विशेष टीम उस ठिकाने पर दबिश दी। वहां से दो लोगों का सत्यापन करने के लिए थाने पर लाया गया। काफी देर तक उनसे पूछताछ हुई। उनके पास से मिले लैपटाप की जांच भी हुई, जिसमें कुछ नहीं मिला।

फर्जीवाड़ा के सरगना की तलाश में कई राज्यों की पुलिस

सूत्रों की मानें तो फर्जीवाड़ा में जिस सरगना का नाम सामने आया उसकी तलाश महाराष्ट्र, दिल्ली सहित अन्य कई राज्यों की पुलिस कर रही है। पुलिस को जो जानकारी मिली उसके मुताबिक सरगना इंजीनियरिंग, बैंकिंग, मेडिकल जैसी परीक्षाओं के सेंटर में सेटर को बैठाने का काम करता था। इसके बदले में सेटर अभ्यर्थियों से मोटी रकम वसूलता है।

आगे पढ़ें: बिहार और यूपी के 300 लोगों को विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर 60 लाख की ठगी, जांच में जुटी पुलिस

अगस्त 2020 में बुद्धा कालोनी थाना क्षेत्र के बोरिंग कैनाल रोड में स्थित एक फ्लैट में दबिश देकर पुलिस ने छह शातिर को गिरफ्तार किया था, जो नीट जैसी मेडिकल परीक्षाओं में पास कराने, मेडिकल कालेज में दाखिला दिलाने के नाम पर ठगी करते थे। पकड़े गए शातिर में उज्ज्वल, सौरभ, रमेश सहित अन्य से पूछताछ हुई। इनके पास से मेडिकल से संबंधित एडमिट कार्ड, मुहर, कंप्यूटर सेट सहित अन्य सामान मिले थे।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.