बिहार खबरें

बिहार: मुंगेर में आठ वर्षीय बच्ची की दे दी बली । पुलिस ने बलि देने के लिए आठ वर्षीय बच्ची की दर्दनाक हत्या के मामले का सोमवार को पर्दाफाश किया। पुलिस ने मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। कुछ दिन पहले ही बच्ची का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ था। प्रारंभिक जांच में उसके साथ बलात्कार होने की भी आशंका जताई गई थी। हालांकि, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई।

मुंगेर में आठ वर्षीय बच्ची की दे दी बली

मुंगेर SP ने इस मामले में बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि बच्ची के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ था बल्कि अन्धविश्वास के कारण जादू टोना को लेकर बच्ची की बलि दे दी गई थी। इस केस में पुलिस ने ओझा समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल मुंगेर में 5 अगस्त को सफियासराय ओपी क्षेत्र के पुरवारी टोला फरदा स्थित एक एक ईट भट्टा के पास से पुलिस ने एक 8 वर्षीय बच्ची का शव क्षत-विक्षत हालत में बरामद किया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म नहीं

बच्ची 4 अगस्त को दिन के 1 बजे से लापता थी। बच्ची का शव मिलने के बाद परिजनों ने दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या की आशंका जताई थी। मुंगेर के पुलिस अधीक्षक जग्गूनाथ रेड्डी जलारेड्डी ने सोमवार को इस मामले में अपने कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस घटना का खुलासा किया। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि बच्ची की हत्या अंधविश्वास और जादू टोना को लेकर की गई थी। हैवानों ने उसकी बलि देने के बाद आंख फोड़ दी। एसपी ने बताया कि परहम निवासी दिलीप कुमार की पत्नी को बच्चा नहीं हो रहा था इसलिए वो खगड़िया जिला के कोरमाहि थाना क्षेत्र मथुरा गांव निवासी परवेज आलम नामक एक ओझा बाबा से मिला।

मुंगेर में आठ वर्षीय बच्ची की दे दी बली

ओझा ने दिलीप की पत्नी को ठीक करने का आश्वासन दिया। उसके बाद उसने अपना जादू टोना शुरू किया। ओझा बाबा ने पहले रेहू मछली की बलि दी। उसके बाद मुर्गे की बलि दी जिसके बाद दिलीप की पत्नी को गर्भ ठहर गया और जब गर्भ ठहर गया तो गर्भ की रक्षा के लिए ओझा ने इंसान की बलि देने को कहा जिसमे इंसान के आंख का खून लाने को कहा था।

आगे पढ़ें: पटना के ये शातिर हर परीक्षा पास कराने की देते है गारंटी, कई राज्यों की पुलिस को है तलाश

इसके बाद दिलीप ने अपने दो अन्य दोस्तों पुरवारी टोला निवासी दशरथ, परहम निवासी तनवीर आलम के साथ मिलकर उस बच्ची का अपहरण कर लिया और उसके बाद देर रात में उसकी बलि देने के बाद आंख फोड़ दिया। बच्ची की हत्या के बाद खून से सने कपड़े से ताबीज बना कर अपनी पत्नी को पहनाया।

मुंगेर में आठ वर्षीय बच्ची की दे दी बली,  पुलिस ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने ताबीज सहित घटनास्थल के समीप से कुछ सामान बरामद किया है। इसके साथ ही इस मामले में तीनों आरोपियों के अलावा परवेज आलम को भी गिरफ्तार किया गया है। बच्ची के शव को ईट भट्टा के परिसर में फेंक दिया गया। इस घटना पर वैज्ञानिक अनुसंधान के बाद बच्ची की निर्मम हत्या किए जाने के राज पर से पर्दा हटा है। दो दिन पूर्व ही एसपी ने मेडिकल रिपोर्ट का हवाला देते हुई कहा था कि बच्ची के साथ बलात्कार नहीं हुआ है।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.