बिहार खबरें

बिहार के एक बुजुर्ग ने 11 बार लिया कोरोना वैक्सीन का डोज । मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड के अंतर्गत औराय गांव के ब्रह्मदेव मंडल (84) ने पिछले 10 माह में अलग-अलग जगहों पर 11 बार कोरोना का टीका ले लिया है। उनका कहना है कि टीका लेने के बाद उनके घुटनों का दर्द कम हुआ है। इस कारण उन्होंने इतनी वैक्सीन ले ली। उन्होंने लंबे समय तक ग्रामीण चिकित्सक का भी काम किया है।

बिहार के एक बुजुर्ग ने 11 बार लिया कोरोना वैक्सीन का डोज

जानकारी के अनुसार मधेपुरा जिला के उदाकिशुनगंज अनुमंडल अंतर्गत पुरैनी थाना के ओराय गांव निवासी ब्रह्मदेव मंडल का दावा है कि उन्होंने अब तक कोरोना वैक्सीन की 11 डोज ली है। इतना ही नहीं उनका यह भी दावा है कि वैक्सीन से उन्हें काफी फायदा हुआ है जिस कारण से वे इसे बार-बार ले रहे हैं। बीते दिन वह वैक्सीन लेने के लिए चौसा पीएचसी गए थे लेकिन वहां वैक्सीनेशन का काम बंद होने के कारण वह अपना 12वां डोज नहीं ले पाएं।

आगे पढ़ें: बिहार राशन कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करें | Bihar New Ration Card List 2022

बिहार के एक बुजुर्ग ने 11 बार लिया कोरोना वैक्सीन का डोज

बता दें, ब्रह्मदेव मंडल (Brahmdev Mandal) की उम्र आधार कार्ड पर 84 वर्ष है। वो डाक विभाग में काम करते थे, फिलहाल सेवा निवृति के बाद गांव में ही रहते हैं। उनके मुताबिक उन्होंने अपना पहला कोरोना टीका 13 फरवरी को पुरैनी पीएससी में लगवाया था। 13 फरवरी से 30 दिसंबर 2021 के बीच उन्होंने वैक्सीन की 11 डोज ले ली हैं। वह अपने साथ टीके का पूरा डिटेल, जैसे डेट, टाइम और स्थान कागज में लिखकर रखे हुए हैं।

कब और कहां लगवाई वैक्सीन?

  • 13 फरवरी को पहली बार पुरैनी पीएचसी में टीका लगवाया।
  • दूसरी डोज 13 मार्च को पुरैनी पीएचसी में लिया।
  • तीसरी खुराक 19 मई को औराय उप स्वास्थ्य केंद्र में जाकर लगवाई।
  • चौथी डोज 16 जून को भूपेंद्र भगत के कोटा पर लगे कैंप में जाकर लगवाया।
  • पांचवां डोज 24 जुलाई को पुरैनी बड़ी हाट स्कूल पर लगे कैंप में जाकर लिया।
  • छठवां डोज 31 अगस्त को नाथबाबा स्थान कैंप में लगवाया।
  • सातवां डोज 11 सितंबर को बड़ी हाट स्कूल में लिया।
  • आठवीं बार 22 सितंबर को बड़ी हाट स्कूल पहुंचा और यहां भी वैक्सीनेशन करवा लिया।
  • नौवीं बार 24 सितंबर को स्वास्थ्य उप केंद्र कलासन में टीकाकरण करवाया।
  • 10वीं बार खगड़िया जिले के परबत्ता में वैक्सीन ली।
  • 11वीं बार भागलपुर के कहलगांव पहुंचा और यहां कोरोना वैक्सीन का डोज लिया।

कोरोना वैक्सीन को अमृत मानकर ले लिया 11 डोज

बिहार के एक बुजुर्ग ने 11 बार लिया कोरोना वैक्सीन का डोज

इस पूरे मामले को लेकर ब्रह्मदेव मंडल कहते हैं कि टीका अमृत है, सरकार ने बहुत अच्छी चीज तैयार की है, लेकिन कुछ लोग सरकार को बदनाम करना चाहते हैं। वो सभी लोगों से टीका लेने की अपील भी करते हैं। बहरहाल न्यूज 18 ब्रह्मदेव मंडल के इतनी बार टीका लेने के दावों का समर्थन नहीं करता है। लेकिन, ब्रह्मदेव मंडल के 11 बार टीका लेने के दावे ने निश्चित तौर पर बिहार में टीकाकरण प्रक्रिया पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अब देखना दिलचस्प होगा कि स्वास्थ्य विभाग इस मामले को लेकर क्या कार्रवाई करता है।

बिहार में टीकाकारण सिस्टम पर उठने लगा सवाल

बहरहाल, स्वास्थ्य विभाग की यह लापरवाही उसके गले का फांस बनी हुई है और अधिकारियों को जवाब देते नहीं बन रहा। एक व्यक्ति को 11 बार टीका लगना टीकाकरण प्रक्रिया पर भी सवाल खड़े करता है। ब्रह्मदेव ने 8 बार आधार कार्ड और एक मोबाइल नंबर पर टीका लिया, जबकि 3 बार मतदाता पहचान पत्र और पत्नी के मोबाइल नंबर पर कैमरे से अलग स्वास्थ विभाग के कुछ कर्मियों ने बताया कि ऑफलाइन कैंपों में लोग ऐसी गड़बड़ी कर सकते हैं।

आगे पढ़ें: बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टी 28 फरवरी तक रद्द

क्योंकि कैंप में उनका आधार नंबर और मोबाइल नंबर लिया जाता है जो बाद में कंप्यूटर में फीड किया जाता है, जो मैच होने पर रिजेक्ट भी हो जाता है। इसलिए कभी-कभी फीड डाटा और वैक्सीन सेंटर पर केस रजिस्टर के डाटा में अंतर भी सामने आते हैं। वहीं इस घटना के सामने आने से स्वास्थ्य महकमा भी हरकत में आ गया है। सीएस डॉ. अमरेंद्र प्रताप शाही ने मामले की जांच करने की बात कही। उन्होंने तत्काल पुरैनी और चौसा पीएचसी के प्रभारियों से रिपोर्ट मांगी है।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.