बिहार खबरें

पटना:  विधानसभा में विधेयकों को मंजूरी मिलने के साथ ही राज्य में मेडिकल और खेल विश्वविद्यालयों के निर्माण का रास्ता साफ हो गया। इनके साथ मंगलवार को आर्यभट्ट ज्ञान विवि संशोधन विधेयक को भी मंजूरी मिल गई। अब इस विवि में नैनो टेक्नोलाजी, स्टेम सेल टेक्नोलाजी, जलवायु परिवर्तन, नदियों के बारे में अध्ययन और खगोल शास्त्र सहित 12 नए विषयों की पढ़ाई होगी। नए स्थापित होने वाले विश्वविद्यालयों के दाखिला से लेकर नियोजन तक में महिलाओं को 33 फीसद आरक्षण (Bihar’s new university admissions and reservation in jobs) मिलेगा। इसका लाभ सिर्फ राज्य की महिलाएं उठा पाएंगी।

Bihar's new university admissions and reservation in jobs

विश्वविद्यालयों के चांसलर की भूमिका में राज्यपाल के बदले मुख्यमंत्री रहेंगे

इन विषयों में उच्च स्तर के शोध किए जाएंगे। खास बात यह है कि इन विधेयकों के पारित होने के बाद अब इन विश्वविद्यालयों के चांसलर की भूमिका में राज्यपाल के बदले मुख्यमंत्री रहेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संशोधन प्रस्ताव पर हो रही चर्चा के दौरान कहा-आज से आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय अपने पूरे नाम के साथ ही जाना जाएगा। इसका पहले वाला संक्षिप्त नाम-एकेयू नहीं रहेगा।

Bihar's new university admissions and reservation in jobs

संशोधन प्रस्ताव पेश करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की परिकल्पना है। 2008 में जब पूरे देश में ज्ञान विश्वविद्यालयों की स्थापना की चर्चा चल रही थी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर यह राज्य में स्थापित हुई। उन्होंने कहा कि भविष्य में आधुनिक ज्ञान-विज्ञान से जुड़े और विषयों की पढ़ाई होगी। फिलहाल 12 नए विषय जुड़ गए हैं। संशोधन विधेयक के जरिए मेडिकल और इंजीनियङ्क्षरग की पढ़ाई को आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविदयालय से अलग कर दिया गया है। विपक्ष की गैर-मौजूदगी में संशोधन को ध्वनिमत से मंजूरी दी गई।

आगे पढ़ें: Central universities vacancy 2021: केन्द्रीय विश्विद्यालयों में टीचिंग व नॉन टीचिंग के हजारों पदों पर जल्द बहाली, इन विश्वविद्यालयों में सबसे अधिक पद रिक्त

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बिहार स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए विधेयक पेश किया। इसे भी ध्वनिमत से मंजूरी मिली। पांडेय ने कहा कि राज्य के सभी सरकारी और निजी मेडिकल कालेजों के अलावा स्वास्थ्य शिक्षा से जुड़े अन्य सभी कालेज इसी विश्वविद्यालय से संबद्ध होंगे। जदयू विधायक पंकज मिश्रा के इस संशोधन को स्वीकार कर लिया गया कि स्वास्थ्य शिक्षा से जुड़े डीम्ड विश्वविद्यालय नए स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय से अलग रखे जाएं। विश्वविद्यालय का मुख्यालय पटना में रहेगा।

Bihar's new university admissions and reservation in jobs

युवा, खेल एवं संस्कृति मंत्री आलोक रंजन ने बिहार खेल विश्वविद्यालय विधेयक पेश किया। उन्होंने बताया कि इस विधेयक के जरिए राज्य के पहले और देश के छठे खेल विश्वविद्यालय की स्थापना हो रही है। इसका मुख्यालय राजगीर में रहेगा। राजगीर स्थित स्पोर्टस एकेडमी को नए विश्वविद्यालय का अंग बनाया गया है। उन्होंने इसकी स्थापना के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति आभार व्यक्त किया। रंजन ने बताया कि राज्य के सभी सरकारी और गैर-सरकारी खेल एवं शारीरिक शिक्षण संस्थान इस विवि से संबद्ध होंगे।

Bihar’s new university admissions and reservation in jobs विश्वविद्यालय के कुलपति अपने-अपने क्षेत्र के विशेषज्ञ होंगे

आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय, स्वास्थ्य विश्वविद्यालय और खेल विश्वविद्यालय के कुलपति अपने-अपने क्षेत्र के विशेषज्ञ होंगे। इनके चयन के लिए अगल-अलग पैनल बनेंगे। पैनल की सिफारिश पर चांसलर की हैसियत से मुख्यमंत्री कुलपति का चयन करेंगे। इस हैसियत से मुख्यमंत्री इन विश्वविद्यालयों की दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता करेंगे। समय रहने पर वे सीनेट की बैठकों की अध्यक्षता भी कर सकते हैं। वे विश्वविद्यालय के किसी मामले की जांच का आदेश दे सकते हैं।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *