बिहार खबरें

बिहार के छपरा जिले में स्वास्थ्य विभाग की एक बार फिर लापरवाही सामने आई है। यहां एक युवती को बिना टीका लगाए वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया है। मामला सीएचसी एकमा से जुड़ा है। जहां बगैर वैक्सीन लिए ही लाभार्थी के मोबाइल पर वैक्सीनेशन मैसेज के साथ ही सर्टिफिकेट भी जारी कर दिया गया।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही

बता दें कि दो दिन पहले ही छपरा से एक मामला सामने आया था, जहां बिना दवा के ही शख्स को सीरींज लगा दी। इसके बाद नर्स पर कार्रवाई की गई। हालांकि ये नया मामला सीएचसी एकमा से सामने आया है। यहां युवती को वैक्सीन तो लगी नहीं लेकिन उसके मोबाइल पर वैक्सीन लेने का मेैसेज आ गया और साथ में सर्टिफिकेट भी जारी  कर दिया गया।

आगे पढ़ें: बड़ी बहन ने की अपनी ही छोटी बहन की पीट-पीटकर हत्या, पुलिस ने किया आरोपी बहन को गिरफ्तार

रसूलपुर थाना क्षेत्र के असहनी गांव की 34 वर्षीया कल्पना द्विवेदी ने वैक्सीनेशन के लिए एकमा नगर पंचायत के एकारी प्राथमिक विद्यालय पर 23 जून को स्लॉट बुक कराया था। किसी कारणवश टीकाकरण केंद्र पर वह नहीं पहुंच पाई लेकिन लापरवाही के कारण दो दिन बाद 25 जून को लाभार्थी के मोबाइल पर वैक्सीनेशन सक्सेसफुल के मैसेज के साथ ही सर्टिफिकेट भी जारी कर दिया।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही, चिकित्सा अधिकारी ने बताई चिंता का विषय

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही

मामले को संज्ञान में लेकर सीएचसी एकमा के चिकित्सा पदाधिकारी अमित कुमार तिवारी ने कहा कि इस तरह की घटना चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर डाटा ऑपरेटर की गलती की वजह से ऐसा हुआ है। हालांकि उन्होंने आगे कहा कि महिला को वैक्सीन लगाई जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि काम के प्रेशर की वजह से डाटा ऑपरेटन की ओर से ये मानवीय भूल हो गई लेकिन आगे से ऐसा ना हो, इस बात का ध्यान रखा जाएगा।

आगे पढ़ें: गोपालगंज में देवर ने भाभी को गैस से जलाया, भाई-भाई में हुआ था विवाद  

हाल ही में एक नर्स ने कोरोना की वैक्सीन ना होने पर एक शख्स को खाली सीरींज लगा दी। यह मामला भी छपरा का है। ये मामला सामने तब आया, जब दोस्त ने वैक्सीने लेते समय शख्स की वीडियो बना ली थी।

आगे पढ़ें: सिवान में पुलिस ने नकली नोट छापने वाले गिरोह का किया खुलासा, छह लाख जाली नोट के साथ चार गिरफ्तार

खाली सिरिंज से युवक को वैक्सीन लगाने के मामले में एकमा प्रखंड के एएनएम को सस्पेंड कर दिया गया है और फिर यह दूसरा मामला प्रमाण के साथ सामने आ गया। हालांकि इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारी से संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन मोबाइल पर बात नहीं हो पाई।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.