बिहार खबरें

सरल जीवन बीमा पॉलिसी 2021: जो लोग लाइफ इंश्योरेंस लेने हैं की सोच रहे हैं। उनके लिए अच्छी खबर है। नए साल से टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना बहुत आसान बनने वाला है। बीमा नियामक संस्था IRDAI ने सभी बीमा कंपनियों को अगले साल 1 जनवरी से सरल जीवन बीमा लॉन्च करने को कहा है। पहली बार इंश्योरेंस प्लान खरीदने वालेे लोगों के लिए सरल जीवन बीमा प्लान लेना एक परेशानी मुक्त अनुभव होगा।

सरल जीवन बीमा पॉलिसी 2021

क्योंकि इसके फीचर्स और फायदेे सभी इंश्योरेंस कंपनियों के पास एक समान होंगे। इसके अलावा सभी कंपनियों के पास इन प्लांस के नियम एवंं शर्तें भी एक जैसी होगी, और इस कारण क्लेम केेे वक्त विवाद या अड़चन आने की संभावना बेहद कम हो जाएगी। सरल  जीवन बीमा पॉलिसी 2021 प्लान का चुनाव करते वक्त ग्राहकों के लिए महत्वपूर्ण होगाा की विभिन्न इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा पेश की जाने वाली इस प्लान की कीमतें और क्लेम सेटेलमेंट रेश्यो की तुलना जरूर कर लें।

क्या है सरल जीवन बीमा

भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकार का कहना है कि सरल जीवन बीमा पॉलिसी शुद्ध रूप से एक सावघि जीवन बीमा योजना होगी। इस पॉलिसी को 18 से 65 वर्ष की उम्र का कोई भी व्यक्ति ले सकेगा, और इसकी अवधि 4 से 40 साल तक होगी। गाइडलाइंस के मुताबिक सरल जीवन बीमा में 5 लाख से 25 लाख तक की पॉलिसी खरीद सकेंगे। https://www.biharkhabre.com/बिहार-में-दो-लाख-नौकरियां/

नियम और शर्तें समान

सभी बीमा कंपनियों के नियम और शर्तें एक समान होगी। इसमें सम एश्योर्ड राशि एवं प्रीमियम भी एक जैसा होगा। इसका फायदा यह होगा कि क्लेम के वक्त विवाद की आशंका बहुत कम रह जाएगा। ग्राहक प्लान का चुनाव करते समय विभिन्न बीमा कंपनियों के इस प्लान की कीमत और क्लेम सेटेलमेंट रेशों की तुलना जरूर करें। इसमें कोई मेच्योरिटी बेनिफिट नहीं मिलेगा, और इसमें 45 दिनों का वेटिंग पीरियड होगा। पॉलिसी धारक की पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु के बाद उसके नॉमिनी को बीमित राशि के बराबर क्लेम मिलेगा। इसके तहत जेंडर, आवास, यात्रा, पेशा या शैक्षणिक योग्यता से कोई मतलब नहीं है, और कोई भी इसे खरीद सकता है।

सुसाइड के मामले में नहीं मिलेगा क्लेम

पॉलिसीधारक की पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु के बाद उसके नॉमिनी को बीमित राशि के बराबर क्लेम मिलेगा। इस पॉलिसी के तहत अगर कोई व्यक्ति सुसाइड करता है तो इस मामले में कोई क्लेम नहीं मिलेगा।

आईआरडीएआई का कहना है कि स्टैंडर्ड प्रोडक्ट के होने से ग्राहकों को पहले से दी गई जानकारियों के आधार पर फैसले लेने में आसानी होगी, और इससे गलत जानकारी देकर पॉलिसी बेचने और क्लेम सेटेलमेंट के दौरान होने वाले विवादों में कमी आएगी।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *