बिहार खबरें

मुजफ्फरपुर:  बिहार के मुजफ्फरपुर में ऑनर किलिंग (Honor Killing) का मामला सामने आया है। बगल के गांव के एक लड़के से प्रेम संबंध रखने पर एक युवती को उसके परिजनों ने निर्मम तरीके से मौत की नींद सुला दी। ऑनर किलिंग में हुई हत्या की इस घटना का खुलासा पुलिस ने 43 दिनों के बाद करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए लड़की के माता-पिता को बेटी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले के कई अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है।

मुजफ्फरपुर में ऑनर किलिंग

ये है मामला

घटना मनियारी थाना क्षेत्र के माधोपुर सुस्ता गांव की है। पूरी सच्चाई सामने आने पर लोग सन्न हैं। दरअसल 1 जून को कुढ़नी थाना इलाके के चंद्रहड्डी गांव में पानी से भरे गड्ढे में एक युवती का शव मिला था। मृतका के चेहरे को बुरी तरीके से क्षतिग्रस्त कर दिया गया था ताकि उसकी पहचान नहीं हो सके। कुढ़नी थाना की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अज्ञात मानते हुए पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया था। 2 जून को मृतका के परिजन अचानक बेटी की हत्या कर शव को तेजाब से चेहरा जला कर शव फेंक दिए जाने का आरोप लगाते हुए उग्र हो गए। तब पता चला कि मरने वाले लड़की मनियारी थाना के माधोपुर सुस्ता निवासी शंकर राय की बेटी थी।

आगे पढ़ें: गे’-प्रेम के कारण चली गोलियां: बिहार के बक्सर में लड़कों के आपत्तिजनक रिश्ते को लेकर चली अंधाधुंध फायरिंग एक घायल

परिजनों के बवाल पर पुलिस पहुंची तो परिजनों ने पड़ोस के ही दो युवकों पर पूजा के अपहरण हत्या का आरोप लगाया और उसे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने लोगों के दबाव में आकर दोनों युवकों को जेल भेज दिया। 2 जून को मीडिया के सामने आई मृतका की मां मालती देवी ने बताया था कि 31 मई की शाम जब वह बेटी पूजा के साथ ही स्कूटी से दवा लेने जा रही थी तभी आरोपी युवकों ने उसे अगवा कर लिया था लेकिन यह बात उसने पुलिस को नहीं बताई। 31 मई को हुई अपहरण की प्राथमिकी 2 जून को मनियारी थाने में दर्ज करायी गई। इस कांड की तफ्तीश कर रहे एएसपी सैयद इमरान मसूद को शुरू से ही परिजनों के विहेवियर पर शक था।

​​​​​मुजफ्फरपुर में ऑनर किलिंग, एएसपी सैयद इमरान मसूद ने बताया

कई साक्ष्यों को संकलित करने के बाद मनियारी पुलिस ने मृतका पूजा के चाचा लालबाबू राय को उठा लिया। लालबाबू राय से जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने सारी सच्चाई उगल दी। उसके बाद पुलिस ने पूजा के पिता शंकर राय, मां मालती देवी को तत्काल गिरफ्तार कर लिया। एएसपी वेस्ट सैयद इमरान मसूद ने बताया कि पूजा का पड़ोसी गांव बिशुनपुर गिद्धा के युवक से प्रेम संबंध था। जिसका परिजन विरोध कर रहे थे।  पूजा परिजनों की बात मानने को तैयार नहीं हुई तो 31 मई की रात को माता-पिता और अन्य संबंधियों ने मिलकर उसे घर के पीछे गाछी में ले गए और उसकी हत्या कर दी।

4 आरोपियों की तलाश जारी

हत्या से पहले मृतका को खाने में नशे की गोली देकर बेहोश कर दिया गया था। इस घटना में माता पिता के अलावे सोनू कुमार, सुशील कुमार, श्याम कुमार और दुर्गेश कुमार शामिल थे। हत्या के बाद मृतका की पहचान छिपाने के लिए आरोपियों ने उसके चेहरे को चाकू गोदकर क्षतिग्रस्त कर दिया था ताकि उसकी पहचान नहीं हो सके। आरोपियों ने दुर्गेश की ऑल्टो कार पर शव को लादकर कुढनी ले जाकर चंद्रहटी गांव में पानी से भरे गड्ढे में फेंक दिया था।

आगे पढ़ें: तिलैया बांध पर पिकनिक मना रहे बक्सर के डीएसपी की सर्विस रिवाल्वर से चली गोली दोस्त की हुई मौत

इस पूरे ऑनर किलिंग कांड का खुलासा होने के बाद पुलिस की तफ्तीश की दिशा बिल्कुल बदल गई। इस कांड में जेल भेजे गए दोनों युवकों की रिहाई के लिए मनियारी पुलिस कोर्ट में अर्जी दाखिल करेगी तो वहीं आरोपी माता पिता को जेल भेजा जाएगा। एएसपी मसूद ने कहा कि ऑनर किलिंग कांड के चार अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *