बिहार खबरें

नीतीश कुमार के जनता दरबार में कैसे हों शामिल बिहार में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की नई सरकार के गठन के बाद आज दूसरी बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) जनता दरबार में लोगों की समस्‍याएं सुन रहे हैं। इसमें लाेगों की समस्‍याओं पर मुख्‍यमंत्री तत्‍काल कार्रवाई का आदेश दे रहे हैं। मुख्‍यमंत्री ने पांच साल बाद फिर जनता दरबार का सिलसिला आरंभ किया है, जिसमें शिकायतों की भरमार लग गई है। आज वे 24 महकमों से जुड़ी शिकायतें सुन रहे हैं। इसके लिए पहले ही फरियादियों का निबंधन किया जा चुका था। कोरोनावायरस संक्रमण (CoronaVirus Infection) की जांच के बाद उन्‍हें जनता दरबार (Janata Darbar) में लाया गया है।

नीतीश कुमार के जनता दरबार में कैसे हों शामिल

मुख्‍यमंत्री ने शिकायत पर तत्‍काल कार्रवाई करने का आदेश दिया 

नीतीश कुमार के जनता दरबार में कैसे हों शामिल

जनता दरबार में खगडि़या से पहुंचे एक व्‍यक्ति ने मुख्‍यमंत्री को बताया कि उसे इंदिरा आवास (Indira Aawas) का लाभ जानबूझ कर नहीं दिया जा रहा है। उसने बताया कि किसी ने साजिश के तहत उसके घर लैंडलाइन टेलीफोन की झूठी शिकायत कर दी, जिसके आधार पर बिना जांच किए उसका आवेदन खारिज कर दिया गया। मुख्‍यमंत्री ने इस शिकायत पर नाराजगी जताते हुए ग्रामीण विकास विभाग के सचिव अरविंद कुमार को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया। जनता दरबार जारी है।

ड्रीम प्रोजेक्‍ट ‘नल-जल योजना’ में गड़बड़ी की भी मिली शिकायत

नीतीश कुमार के जनता दरबार में कैसे हों शामिल

जनता दरबार में मुख्‍यमत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्‍ट ‘नल-जल योजना’ में गड़बड़ी की भी शिकायत मिली है। लोगों ने मुख्‍यमंत्री को बताया कि योजना के तहत आधा-अघूरा काम कराया गया है। कई जगह केवल टंकी लगाकर छोड़ दिया गया है, जिसमें पानी नहीं आता। मुख्‍यमंत्री ने तत्‍काल पंचायती राज विभाग को इस मामले को देखने को कहा।

आगे पढ़ें: ग्राहक ने चाउमिन में लोहे के किल मिलने की ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई, रेस्टोरेंट के निरीक्षण के दौरान मिला नकली पनीर

फरियादियों ने मुख्‍यमंत्री से प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि तथा उद्योग विभाग से अनुदान नहीं मिलने के मामले भी पहुंचे। उद्योग विभाग से अनुदान नहीं मिलने की शिकायत लेकर पहुंचे एक युवक ने कहा कि जिलाधिकारी उसे डांटकर भगा देते हें।

आगे पढ़ें: पश्चिमी चंपारण में दो दिनों में संदिग्ध हालात में 16 लोगों की मौत, इलाके में दहशत का माहौल

इसके पहले रविवार को जनता दल यूनाइटेड (JDU) के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जब उन्हें लगा कि जनसंवाद के अभव में सही फीडबैक (Real Feedback) नहीं मिल रहा है, तब उन्होंने जनता दरबार कार्यक्रम फिर से आरंभ करने का फैसला किया। मुख्यमंत्री जनसंवाद को कायम रख जनता से सीधा फीडबैक लेने के लिए अब हर सोमवार (Monday) को जनता दरबार कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे।

नीतीश कुमार के जनता दरबार में कैसे हों शामिल, जानिए

नीतीश कुमार के जनता दरबार में कैसे हों शामिल

अब जरा जनता दरबार में शामिल होने की प्रक्रिया भी जान लीजिए…

  • मुख्‍यमंत्री के जनता दरबार में शामिल होने के लिए बिहार सरकार की आफिशियल वेबसाइट https://jkdmm.bih.nic.in/Jantadarbar/Default.aspx पर जाएं।
  • जनता के दरबार में मुख्‍यमंत्री वाले बटन पर क्लिक करें
  • खुले विंडो में मांगी गई जानकारी (नाम, पिता या पति का नाम, जन्‍म तिथि, आाधार संख्‍या, ई-मेल, मोबाइल नंबर आदि) दर्ज कर सबमिट करें।
  • आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा, जिसे वेरिफाई करें।
  • अब वर्तममान पता व शिकायत दर्ज कर सबमिट कर दें। अगर कोई शिकायत पत्र हो तो उसे पीडीएफ या जेपीजी फार्मेट में अपलोड कर दें।
  • इसके बाद जिले में प्रशासन (District Administration) जिला प्रशासन कोरोनावायरस संक्रमण (CoronaVirus Infection) की जांच के बाद जनता दरबार में ले जाएगा।

By Biharkhabre Team

मेरा नाम शाईना है। मैं बिहार के भागलपुर कि रहने बाली हूं। मैंने भागलपुर से MBA की पढ़ाई कंप्लीट की हूं। मैं Reliance में कुछ समय काम करने के बाद मैंने अपना खुद का एक ब्लॉग बनाया। जिसका नाम बिहार खबरें हैं, और इस पर मैंने देश-दुनिया से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया। मैं प्रतिदिन देश दुनिया से जुड़े अलग-अलग जानकारी अपने Blog पर Publish करती हूं। मुझे देश दुनिया के बारे में नई नई जानकारी लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.